ताज़ा खबर
 

योगी आदित्यनाथ से प्रेरित हुई आप? दिल्ली में महापुरुषों के नाम पर मिलने वाली छुट्टियां रद्द करेगी अरविंद केजरीवल सरकार

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने यूपी में बड़ी हस्तियों के जन्मदिन या पुण्यतिथि पर दिए जाने वाले 15 सार्वजनिक अवकाश रद्द करने संबंधी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फैसले का स्वागत किया।
दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि योगी आदित्यनाथ सरकार की पहल अच्छी है और दिल्ली सरकार दूसरे राज्यों से सीखने के लिए हमेशा तैयार है। (Source-EXPRESS PHOTO)

यूपी सरकार के बाद अब दिल्ली सरकार ने बड़ी हस्तियों के जन्मदिन या पुण्यतिथि पर दिए जाने वाले सार्वजनिक अवकाश रद्द करने का फैसला किया है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया कि दिल्ली सरकार प्रतिष्ठित हस्तियों के जन्मदिन या पुण्यतिथि पर दी जाने वाली छुट्टियां रद्द करेगी। मैंने इस संबंध में मुख्य सचिव को निर्देश दे दिये हैं। अरविंद केजरीवाल सरकार योगी आदित्यनाथ सरकार से प्रेरित लग रही है। मनीष सिसोदिया ने योगी आदित्यनाथ सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि उनकी पहल अच्छी है। दिल्ली सरकार दूसरे राज्यों से सीखने के लिए हमेशा तैयार है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के लालबत्ती कल्चर को हटाने और मोहल्ला क्लीनिक को देश भर में अपनाया जा रहा है। हमें भी दूसरों के अच्छे फैसलों को अपनाना चाहिए। अभी दिल्ली में गुरु गोविंद सिंह जयंती, गुरु रविदास जयंती, शिवाजी जयंती, महर्षि दयानंद सरस्वती जयंती, महावीर जयंती, हजरत अली जन्मदिन, अंबेडकर जयंती, महात्मा गांधी जयंती,  महर्षि वाल्मिकी जयंती, गुरु नानक जयंती पर छुट्टी रहती है।

गौरतलब है कि दिल्ली के स्कूलों में भी कई महापुरुषों की जयंतियों पर छुट्टी रहती है। मनीष सिसोदिया ने उत्तर प्रदेश में विभिन्न बड़ी हस्तियों के जन्मदिन या पुण्यतिथि पर दिए जाने वाले 15 सार्वजनिक अवकाश रद्द करने संबंधी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के फैसले का स्वागत किया। उत्तर प्रदेश सरकार ने महापुरुषों के जन्मदिन या पुण्यतिथि पर दी जाने वाली 15 सार्वजनिक छुट्टियां रद्द कर दी हैं। जिन अवकाशों को योगी सरकार ने रद्द किया है, उनमें जन नायक कर्पूरी ठाकुर जयंती (24 जनवरी), ख्वाजा मोइनुददीन चिश्ती अजमेरी गरीब नवाज उर्स (14 अप्रैल), चंद्रशेखर का जन्मदिन (17 अप्रैल), परशुराम जयंती (28 अप्रैल), महाराणा प्रताप जयंती (9 मई), छठ पूजा (26 अक्टूबर) आदि शामिल हैं।

दरअसल, बीते 14 अप्रैल को अंबेडकर जयंती के एक कार्यक्रम में यूपी के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने इतने ज्‍यादा अवकाशों पर नाराजगी जताई थी। उन्‍होंने कहा था कि महापुरुषों के जन्‍मदिन की छुट्टी के बजाय उस दिन महापुरुषों की जिंदगी के बारे में बच्‍चों को बताया जाना चाहिए। इससे वे उनकी जिंदगी से प्रेरणा भी हासिल करेंगे और उसके बाद अपनी पढ़ाई भी कर सकेंगे। रद्द की गई छुट्टियों में ज्यादातर किसी न किसी महापुरुष के जन्मदिन या पुण्यतिथि से संबंधित थे। यूपी सरकार ने फैसला किया कि महापुरुषों की जयंती पर स्कूल और कॉलेज खुले रहेंगे और उस दिन 2 घंटे संबंधित महापुरुष के बारे में छात्रों को बताया जाएगा। यूपी में 42 सार्वजनिक छुट्टियां हैं, जिनमें से 17 का संबंध किसी न किसी महापुरुष के जन्मदिन या पुण्यतिथि से है।

शुंगलू समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा- "केजरीवाल सरकार ने किया सत्ता का दुरुपयोग", देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.