ताज़ा खबर
 

सेहत और पढ़ाई पर रहेगा सरकार का जोर, दिल्ली वालों के लिए होगा 65 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का बजट

उपराज्यपाल अनिल बैजल के अभिभाषण से विधानसभा का बजट सत्र शुरू होगा और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इसे पेश करेंगे।

Arvind Kejriwalदिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (फोटो सोर्सः ट्विटर@vskutwal7)

दिल्ली सरकार ने बजट की तैयाारियां शुरू कर दी है। कोरोनाकाल में पेश होने वाला यह बजट दिल्ली का अब तक का सबसे बड़ा बजट होगा। सूत्र बताते हैं कि इसके 65 हजार करोड़ रुपए से अधिक होने की संभावना है और सरकार फिर से शिक्षा व स्वास्थ्य मॉडल के साथ आगे बढ़ेगी। उपराज्यपाल अनिल बैजल के अभिभाषण से विधानसभा का बजट सत्र शुरू होगा और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया इसे पेश करेंगे।

सूत्रों ने बताया कि इस बार भी दिल्ली के लिए शिक्षा और स्वास्थ्य ही सरकार के लिए प्राथमिक क्षेत्र रहेंगे। इन क्षेत्रों के लिए वित्त मंत्री अधिक पैसा जारी कर सकते हैं। वर्ष 2020-21 के बजट में भी दिल्ली सरकार ने एक चौथाई बजट का हिस्सा खर्च किया था। तब शिक्षा के क्षेत्र में सरकार ने कई अहम योजनाओं को लागू किया था। इनमें कमरों का निर्माण, बुनियाद कार्यक्रम और 9 से 12 तक की कक्षाओं को डिजिटल कक्षा तक पहुंचाना आदि शामिल रहा है। सूत्र बताते हैं कि आने वाले वित्त वर्ष में भी सरकार इस मॉडल पर काम करती रहेगी। कोरोनाकाल को देखते हुए भविष्य में स्वास्थ्य मॉडल का विस्तार करना सरकार की दूसरी बड़ी प्राथमिकता में शामिल है। इसे पहले भी सरकार 10 गारंटी कार्यक्रम लागू कर चुकी है।

बताया जा रहा है कि इस हालात में सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती वित्त प्रबंधन की होगी क्योंकि सरकारी खजाने को इस कोरोनाकाल में काफी नुकसान उठाना पड़ा है। जबकि आम जनता के लिए निशुल्क खानपान सेवाओं समेत स्वास्थ्य सेवाओं का बंदोबस्त करके गरीब परिवारों को सरकार ने राहत दी।

निगम चुनाव का भी दिखेगा असर : निगम चुनाव में जीत दर्ज कराने के बाद अब ‘आप’ का लक्ष्य अगले वर्ष होने वाले निगम चुनाव पर है। इसके संकेत पार्टी अपने प्रचार के जरिए दे चुकी है और अब मिशन निगम का असर भी इस बजट में साफ नजर आएगा। दिल्ली सरकार इस बजट में शहरी विकास विभाग की मदद से नई योजनाओं का तोहफा दे सकती है, जो इस वर्ष में पूर्ण किए जाएंगे। इससे जहां स्थानीय स्तर आम जन की सेवाओं को सुधारने में मदद हासिल होगी वहीं दूसरी तरफ इन चुनाव के लिए ‘आप’ की जमीन को तैयार किया जा सकेगा।

जश्न में डूबेगी राष्ट्रीय राजधानी
सूत्रों ने बताया कि ‘आप’ सरकार के इस बजट में देशभक्ति की झलक भी देखने को मिलेगी। दरअसल 15 अगस्त 2022 को आजादी के 75 साल पूर्ण होने जा रहे हैं। सरकार की योजना है कि इस मौके पर दिल्ली वालों को इस जश्न से जोड़ा जाए। सूत्रों के अनुसार इसके लिए 75 वर्ष पूरे होने से ठीक 75 सप्ताह पहले से ही पूरी दिल्ली में अभूतपूर्व तरीके से कार्यक्रम आयोजित होंगे।

12 मार्च से शुरू हो रहे देशभक्ति पूर्ण आयोजनों की शृंखला में अगले 75 सप्ताह तक कार्यक्रम होंगे। इसके तहत पिछले 75 साल में दिल्ली की यात्रा और 2047 की दिल्ली विजन देश के सामने रखा जाएगा।

Next Stories
1 दिल्ली दंगाः पुलिस ने थपथपाई अपनी पीठ तो ओवैसी बोले – बलि का बकरा ढूंढना बंद करो, कहां हैं फैजान के हत्यारे?
2 7 राज्यों में एक्टिव है इस ‘बंटी-बबली’ दंपति का ठगी गैंग, ऐसे बनाता है शिकार…
3 अब घर बैठे रिन्यू हो जाएगा आपका ड्राइविंग लाइसेंस, कई और सुविधाएं भी हो गई हैं ऑनलाइन
ये पढ़ा क्या?
X