ताज़ा खबर
 

दिल्ली सरकार ने रद्द की 9वीं, 11वीं की परीक्षा, डिप्टी सीएम बोले- लोग खुदकुशी करने के कगार पर, केंद्र दे राहत पैकेज

दिल्ली के स्कूलों में कक्षा 9 और 11 की परीक्षाएं COVID-19 महामारी के मद्देनजर रद्द कर दी गई हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

दिल्ली के स्कूलों में कक्षा 9 और 11 की परीक्षाएं COVID-19 महामारी के मद्देनजर रद्द कर दी गई हैं। छात्रों का मूल्यांकन मध्यावधि परीक्षाओं में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा। उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को यह जानकारी दी। सिसोदिया ने यह भी बताया कि दिल्ली के सरकारी स्कूल में कक्षा 6 से 9 में प्रवेश के लिए ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया कल शाम से शुरू हो जाएगी। ऑनलाइन आवेदन फॉर्म 11 जून से 30 जून तक जमा किए जा सकते हैं और प्रवेश सूची 14 जुलाई तक जारी की जाएगी। इस मौके पर मनीष सिसोदिया ने कहा कि लोग खुदकुशी करने की कगार पर हैं। ऐसे में केंद्र सरकार को राहत पैकेज देना चाहिए।

उपमुख्यमंत्री द्वारा आज की गई घोषणा के अनुसार, कोई भी स्कूल, सरकारी या निजी, जिसमें केवल मध्यावधि परीक्षाएं आयोजित की गईं और वार्षिक परीक्षा आयोजित नहीं की जा सकी, मध्यावधि में छात्र के प्रदर्शन के आधार पर परिणाम घोषित करेगा। सिसोदिया ने कहा कि जिन निजी स्कूलों ने अपनी मध्यावधि और वार्षिक परीक्षाएं आयोजित की थीं, वे अब अपने छात्रों के परिणाम घोषित कर सकते हैं। जिन विद्यालयों में मध्यावधि परीक्षा आयोजित नहीं की गई थी, या केवल कुछ विषयों के लिए परीक्षा आयोजित की गई थी, वहां सर्वश्रेष्ठ दो विषयों के अंकों को ध्यान में रखा जाएगा। हालांकि, छात्रों को अगली कक्षा में पदोन्नत किया जाएगा और अन्य विषयों में भी अंक देकर मार्कशीट तैयार की जाएगी।

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में कक्षा 9 और 11 के परिणाम 22 जून को घोषित किए जाएंगे। परिणाम शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा। सरकार ने कहा कि कोई भी स्कूल छात्रों को व्यक्तिगत रूप से परिणाम लेने के लिए नहीं बुलाएगा।

जो लोग मध्यावधि परीक्षा में उपस्थित या उत्तीर्ण नहीं हो सके, उनका मूल्यांकन स्कूल स्तर पर प्रोजेक्ट और असाइनमेंट कार्य के माध्यम से किया जाएगा। दिशा-निर्देशों का एक पूरा सेट जल्द ही जारी किया जाएगा।

बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए तैयारी के तौर पर शहर में अभी तक कुल 171 मीट्रिक टन की क्षमता वाले तीन ऑक्सीजन भंडार संयंत्र लगाए गए हैं।

उन्होंने सिरसपुर में स्थित ऑक्सीजन भंडार संयंत्र का दौरा करने के बाद कहा कि यहां 57 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भंडारण क्षमता का क्रायोजेनिक टैंक लगाया जा रहा है और साथ ही यहां हर दिन 12.5 टन की क्षमता वाला ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्र भी बना रहे हैं।

Next Stories
1 यूपी महिला आयोग की सदस्य बोलीं, लड़कियों को न दें मोबाइल, लड़कों के साथ भाग जाती हैं
2 यूपी में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच गृह मंत्री शाह से मिले सीएम योगी, 90 मिनट तक चली मुलाकात
3 जेल की झाड़ी में ही छिपा था कैदी, कई दिन तलाश करती रही यूपी पुलिस
ये पढ़ा क्या?
X