scorecardresearch

Delhi Excise Policy Case: सबूत जुटाने मनीष सिसोदिया के दफ्तर पहुंची सीबीआई, ले गई हार्ड डिस्क

CBI से जुड़े सूत्रों ने बताया कि एजेंसी के अफसर मनीष सिसोदिया के ऑफिस से एक कंप्यूटर ले गए हैं।

Delhi Excise Policy Case: सबूत जुटाने मनीष सिसोदिया के दफ्तर पहुंची सीबीआई, ले गई हार्ड डिस्क
Delhi के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Photo Source- twitter/ @AAPDelhi)

Delhi: आबकारी नीति घोटाले में CBI की एक टीम शनिवार को दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) के ऑफिस पहुंची। सीबीआई ने यहां से एक हार्ड डिस्क अपने कब्जे में ली है। सीबीआई की टीम दिल्ली आबकारी नीति मामले से संबंधित कुछ रिकॉर्ड इकट्ठा करने के लिए सिसोदिया के कार्यालय पहुंची थी।

सिसोदिया के ऑफिस से हार्ड डिस्क ले गयी CBI

सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, मनीष सिसोदिया के ऑफिस से लिया गया कंप्यूटर जांच में अहम मदद करेगा। CBI ने सिसोदिया के दफ्तर में आबकारी नीति मामले से संबंधित कुछ रिकॉर्ड के बारे में भी जानकारी मांगी।

दिल्ली सरकार के सूत्रों ने कहा कि सीबीआई की टीम दिल्ली सचिवालय में सिसोदिया के कार्यालय में छापेमारी कर रही है, लेकिन एजेंसी के अधिकारियों ने कहा कि सीबीआई ने दस्तावेज इकट्ठा करने के लिए परिसर का दौरा किया और कोई छापा या तलाशी नहीं की जा रही है।

Manish Sisodia ने ट्वीट कर किया सीबीआई का स्वागत

वहीं, मनीष सिसोदिया ने शनिवार को ट्वीट करके दावा किया कि एजेंसी को पिछली छापेमारी के दौरान उनके खिलाफ कुछ भी नहीं मिला था और इस बार भी ऐसा ही होगा क्योंकि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है। सिसोदिया ने ट्वीट किया, ”आज फिर सीबीआई मेरे दफ़्तर पहुंची है। उनका स्वागत है। इन्होंने मेरे घर पर रेड कराई, दफ़्तर में छापा मारा, लॉकर तलाशे, मेरे गांव तक में छानबीन करा ली। मेरे ख़िलाफ़ न कुछ मिला है, न मिलेगा क्योंकि मैंने कुछ ग़लत किया ही नहीं है। दिल्ली के बच्चों की शिक्षा के लिए ईमानदारी से काम किया है।”

वहीं, सीबीआई के अधिकारियों ने कहा कि एजेंसी द्वारा डिप्टी सीएम के कार्यालय में कोई तलाशी या छापेमारी नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि टीम आबकारी नीति मामले में कुछ रिकॉर्ड इकट्ठा करने या स्पष्टीकरण मांगने गई हो।

छापा नहीं तो क्या चाय पीने गई सीबीआई – AAP

आम आदमी पार्टी ने सीबीआई के इस दावे को खारिज कर दिया कि उसके अधिकारी कुछ रिकॉर्ड लेने के लिए सिसोदिया के कार्यालय में थे और यह छापेमारी नहीं थी। आप ने कहा, “उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के कार्यालय में सीबीआई के अधिकारी अगर छापेमारी के लिए नहीं गए थे तो क्या चाय और स्नैक्स के लिए थे? सीबीआई को जवाब देना चाहिए कि छापे में उसे क्या मिला?”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 15-01-2023 at 10:03:28 am
अपडेट