ताज़ा खबर
 

दो साल की बच्ची के पेट में 20 बार छुरा घोंपा, गला भी काटा

पूर्वी दिल्ली के मंडावली इलाके में 25 साल की एक महिला और उसकी दो साल की बच्ची की निर्मम हत्या का मामला सामने आया है।

Author January 15, 2017 9:59 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

पूर्वी दिल्ली के मंडावली इलाके में 25 साल की एक महिला और उसकी दो साल की बच्ची की निर्मम हत्या का मामला सामने आया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक यह बात सामने आई है कि बच्ची को मारने के लिए 20 बार उसके पेट में छुरा घोंपा गया था और वहीं उसकी मां के पेट में 5 बार छुरा घोंपा गया था। रिपोर्ट के मुताबिक हत्या किसी धारदार हथियार से की गई है लेकिन अभी हथियार को बरामद किया जाना बाकी है। वहीं इस मामले में पुलिस को एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है लेकिन पुलिस को शक है कि यह मामला हत्या का हो सकता है।

वहीं पूर्वी डिस्ट्रिक्ट के डीसीपी ओमवीर सिंह ने बताया कि, “जब मां-बेटी के शव बरामद किए गए थे तो घर अंदर से बंद था, लेकिन खिड़की खुली थी। साथ ही दोनों शवों के गले भी किसी धारदार हथियार से रेते हुए पाए गए थे। दूसरी तरफ एक सुसाइड नोट भी बरामद किया गया है लेकिन हमें शक है कि इसे हत्यारे ने पुलिस को मिसलीड करने के लिए छोड़ा होगा।” हत्या का मामला 9 जनवरी 2017 का है और बीते शुक्रवार यानी 13 जनवरी को पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में यह बात सामने आई कि बच्ची की हत्या करने के लिए उस पर 20 बार से ज्यादा किसी धारदार हथियार से हमला किया गया।

पुलिस सीसीटीवी फुटेज की भी जांच कर रही है। मामले के बारे तब पता चला जब मारी गई महिला के पति मिथिलेश घर वापिस पहुंचे। मिथिलेश ट्रेन ड्राइवर हैं और उनकी शादी गीतांजली से तीन साल पहले हुई थी और उनकी बेटी का नाम अनन्या था। इस केस की जांच प्रक्रिया में पुलिस के साथ क्राइम ब्रांच भी लगी हुई है।

वहीं सुसाइड नोट में ऐसा दिखाने की कोशिश की गई है कि महिला ने निजी कारणों से अपनी बेटी की हत्या की और बाद में खुद आत्महत्या कर ली और इसके लिए कोई और जिम्मेदार नहीं है। सुसाइड नोट में यह भी दिखाने की कोशिश की गई है महिला ने अपनी किसी बीमारी की वजह से यह कदम उठाया है लेकिन पुलिस के मुताबिक महिला को किसी बड़ी बीमारी होने के कोई सुरागद नहीं मिलते।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App