आरोपी के तौर पर कीर्ति आजाद किए गए तलब

भाजपा के निलंबित सांसद कीर्ति आजाद को फौजदारी मानहानि की शिकायत मामले में दिल्ली की एक अदालत ने आरोपी के तौर पर शुक्रवार को तलब किया।

भाजपा के निलंबित सांसद कीर्ति आजाद

भाजपा के निलंबित सांसद कीर्ति आजाद को फौजदारी मानहानि की शिकायत मामले में दिल्ली की एक अदालत ने आरोपी के तौर पर शुक्रवार को तलब किया। उन्होंने आरोप लगाया कि पूर्व क्रिकेटर ने बीसीसीआइ लोकपाल और अन्य को भेजे गए ई-मेल में अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया।
वकील ने दावा किया कि आजाद ने 15 सितंबर को कई लोगों को ई-मेल भेजा था, जिसमें यह आरोप लगाया गया था कि शिकायतकर्ता दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) अधिकारियों और अन्य पर दबाव डालने के लिए झूठे मामले दायर किया करता था। मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अभिलाश मल्होत्रा ने अगले साल 19 मई को आजाद को अदालत के समक्ष पेश होने को कहा। अदालत ने कहा कि प्रथम दृष्टया उनके खिलाफ आइपीसी की धारा 499 (मानहानि) और धारा 500 (मानहानि के लिए सजा) का अपराध बनता है।

आपको बता दें कि इससे पहले पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने लोढ़ा समिति की सिफारिशों को ‘असंवैधानिक’ बताने पर पूर्व जज मार्कंडे काटजू पर निशाना साधा था। आजाद ने कहा, ‘बीसीसीआई ने पूर्व जस्टिस काटजू को बहलाया है या फिर वे बुढ़े हो चले हैं।’ बता दें, जस्टिम काटजू अभी बीसीसीआई के सलाहकार हैं। जस्टिस काटजू ने रविवार को लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों को ‘असंवैधानिक’ बताया था। आजाद ने कहा, ‘मैं यह नहीं समझ पा रहा हूं कि जस्टिस काटजू अपने आपको इसमें क्यों शामिल कर रहे हैं। यह सुप्रीम कोर्ट का फैसला सबको मानना होगा। जस्टिस काटजू को बीसीसीआई ने बहलाया है या फिर उन्होंने उन सिफारिशों को पढ़ा नहीं है। बीसीसीआई उन्हें जबरन आगे कर रही है या फिर वे बूढ़े हो चले हैं।’

साथ ही आजाद ने कहा, ‘लोढ़ा कमेटी ने जो सिफारिशें की हैं, वे क्रिकेट को भ्रष्टाचार से दूर रखेंगी। लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों से अच्छा फैसला हमें नहीं मिल सकता था। अब (बीसीसीआई) वाले सोच रहे हैं कि उनके दिन चले गए हैं। मैं समझ सकता हूं कि उन्हें अपनी दुकानें बंद करनी होंगी और वे अब कोई घपला नहीं कर पाएंगे। मुझे लगता है कि देश के खिलाड़ियों, खेल और खेलप्रेमियों के लिए यह अच्छा फैसला है।’ सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस काटजू ने रविवार को लोढ़ा पैनल की सिफारिशों को असंवैधानिक करार दिया था।

Next Stories
1 अवमानना मामले में काटजू ने की जल्द सुनवाई की अपील
2 चारधाम यात्रा के दौरान रुद्रप्रयाग, चमोली व उत्तरकाशी में शराबबंदी का निर्देश
3 आडवाणी ने फिर लगाई अपने सांसदों को फटकार
यह पढ़ा क्या?
X