ताज़ा खबर
 

हाईकोर्ट ने मोईन कुरैशी भ्रष्टाचार मामले में सीबीआई पर उठाए सवाल, कहा- अपने तीन पूर्व निदेशकों से क्यों नहीं पूछे सवाल

26 सितंबर को सीबीआई ने कोर्ट को बताया कि अभी तक 544 दस्तावेज इकट्ठा किए गए हैं और 63 गवाहों की जांच की गई।

Moin Qureshi caseमांस निर्यातक मोईन कुरैशी, तस्वीर में सबसे आगे बीच में। (Express Photo by Amit Mehra/Files)

दिल्ली हाईकोर्ट ने सीबीआई से पूछा है कि उसने करोड़पति मांस निर्यातक मोईन कुरैशी के खिलाफ फरवरी 2017 में दर्ज रिश्वत मामले के संबंध में उसके पूर्व डायरेक्टर रंजीत सिन्हा, एपी सिंह और आलोक वर्मा से पूछताछ क्यों नहीं की। एक एफआईआर में सीबीआई ने आरोप लगाया था कि मांस निर्यातक ने ‘कुछ नौकरशाहों’ के लिए बिचौलिए के रूप में भी काम किया। एफआईआर में कहा गया कि कुरैशी ने एपी सिंह की भी मदद की जो साल 2012 में सीबीआई प्रमुख के पद से रिटायर हुए थे।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सीबीआई की स्पेशल कोर्ट के जज संजीव अग्रवाल ने एजेंसी से पूछा कि वो अपने पूर्व डायरेक्टरों में से दो की भूमिका वाले में मामले में अपने पैर पीछे क्यों खींच रही है? अग्रवाल ने आगे कहा कि हो सकता है कि एजेंसी उनके मामले में जांच को आगे बढ़ाने के लिए बहुत अधिक उत्सुक नहीं है।

स्पेशल कोर्ट के जज ने अपने नए निर्देश में कहा कि इस मामले में सीबीआई के पूर्व-निदेशकों में से दो (एपी सिंह और रंजीत सिन्हा) की भूमिका जांच के दायरे में है। इस मामले में ईमानदार जांच की जरूरत है। उन्होंने 26 सितंबर के अपने आदेश में यह बात कही। उन्होंने कहा कि एक प्रमुख जांच एजेंसी के रूप में सीबीआई की छवि फिर से देखने योग्य है। एक ही समय में अपने दो पूर्व डायरेक्टरों के खिलाफ आरोपों की जांच के लिए इसे आगे बढ़ना होगा। कोर्ट ने कहा कि जब कोई संस्था या संगठन खुद को एक चौराहे पर खड़ा पाता है तो उसे सही रास्ता अपनाना पड़ता है।

उल्लेखनीय है कि 26 सितंबर को सीबीआई ने कोर्ट को बताया कि अभी तक 544 दस्तावेज इकट्ठा किए गए हैं और 63 गवाहों की जांच की गई। गवाहों में तीन आरोपी भी हैं। इसमें आगे कहा गया कि पिछले जांच अधिकारी डीएसपी देविंदर कुमार ने मोईन अख्तर कुरैशी, प्रदीप कोनेरू, आदित्य शर्मा और सतीश बाबू सना को गिरफ्तार करने का प्रस्ताव पेश किया था।

Next Stories
1 फिर पलटी यूपी पुलिस की गाड़ी, मुंबई से लाए जा रहे बहराइच के गैंगस्टर की हुई मौत
2 नहीं रहे गीतकार अभिलाष, लिखा था ‘इतनी शक्ति हमें देने दाता…’
3 बंगालः BJP के नए राष्ट्रीय सचिव के खिलाफ शिकायत, बोले थे- COVID-19 हुआ तो CM ममता को लगा लूंगा गले…
ये पढ़ा क्या?
X