ताज़ा खबर
 

सभा के दौरान लगे ‘मोदी-मोदी’ के नारे तो अरविंद केजरीवाल बोले- ये नारे लगाने से पेट नहीं भरता, पागल हो गए हैं लोग

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की जुवान से भी अब प्रधानमंत्री नरेंद्र के नाम के स्वर सुनाई देने लगे हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: April 1, 2017 10:15 PM
अरविंद केजरीवाल। (PTI/File Photo)

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की जुवान से भी अब प्रधानमंत्री नरेंद्र के नाम के स्वर सुनाई देने लगे हैं। हालांकि उन्होंने मोदी के पक्ष में नहीं बल्कि उन पर हमला बोलते हुए मोदी-मोदी के मारे लगाए। जी हां, समाचार एजेंसी ANI पर आए ट्विटर में सीएम केजरीवाल ने कहा कि सारे कर्मचारियों को हड़ताल करनी पड़ती है…पूरी दिल्ली कूड़-कूड़ा हो जाती है, सारी सड़कों पर कूड़ा हो जाता है। केजरीवाल ने कहा कि ये नारे लगाने से पेट नहीं भरता, पागल हो गए हैं लोग। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार बनेगी तो महीने की 7 तारीख को सारी कर्मचारियों की सैलरी उनके बैंक एकाउंट में पहुच जाएगी। ये बातें अरविंद केजरीवाल ने राजधानी दिल्ली की गौतम विहार चौक के करतार नगर में जनता के संबोधन में बयां की। सीएम केजरीवाल ने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि जनता को संबोधित करते हुए कहा कि इनसे पूछ लो अगर मोदी- मोदी चिल्लाने से हाउस टैक्स माफ होता है तो मैं भी चिल्लाउंगा मोदी-मोदी..मोदी। केजरीवाल ने क्षेत्र की जनता से कहा मोदी का नाम लेने से तुम्हारी बिजली के रेट कम हुए…अगर बिजली के रेट कम होते हैं तो मैं भी चिल्लाउंगा मोदी-मोदी..

केजरीवाल ने दिल्ली के गांधी नगर इलाके की रैली के दौरान एमसीडी की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि हर साल हम निगम को हजारों करोड़ देते हैं लेकिन इसके वाबजूद भी इन्होंने दिल्ली में सफाई नहीं की है। केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी पार्टी वाले अपने नेताओं का हाउस टैक्स तो खत्म कर देते है लेकिन जनता का हाऊस टैक्स खत्म नहीं करते।

केजरीवाल ने कहा कि तीन-चार दिन पहले बीजेपी के एक बड़े नेता ने उनसे मिलकर कहा कि अगर बीजेपी सत्ता में आ गई तो दिल्ली सरकार से बिजली पानी का विभाग छीन लेंगे और बिजली पानी मंहगा कर देंगे। उन्होंने कहा केंद्र सरकार पर दिल्ली में बिजली का दाम बढ़ाने के लिए गुजरात की बिजली कंपनियों का बहुत दबाव है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ मामले में भारतीय जनता पार्टी और चुनाव आयोग पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, ‘मध्यप्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी ने पत्रकारों को एक ईवीएम का डेमो दिखाने के लिए बुलाया, लेकिन वहां पर ईवीएम मशीन में गड़बड़ी सामने आ गई। उस ईवीएम मशीन में एक नंबर पर भाजपा का निशान कमल था, जब वह बटन दबाया गया तो स्लिप कमल के फूल की निकली। चार नंबर पर कांग्रेस का बटन था तो उसे दबाया गया, तब भी कमल के फूल की स्लिप निकली। दो नंबर पर हाथी का निशान था, उसे दबाया गया तो तब भी कमल के फूल की चिट निकली, जो भी बटन दबाया जा रहा था तो केवल कमल के फूल की स्लिप निकल रही थी।’

भाजपा पर निशाना साधते हुए केजरीवाल बोले, ‘अब सवाल यह उठ रहा है कि क्या देश में चुनाव निष्पक्ष हो रहे हैं। लोग वोट डाल रहे हैं या फिर मशीनें डाल रही हैं। यह कोई अकेली घटना नहीं है, इससे पहले असम में चुनाव हुई थे, तब भी वहां एक मशीन ऐसी निकली थी, जिससे सारे वोट भाजपा को जा रहे थे। दिल्ली कैंट में चुनाव के वक्त भी एक ऐसी मशीन सामने आई थी। अगर ये मशीनें खराब हो गई थीं, तो कांग्रेस या समाजवादी पार्टी को वोट क्यों नहीं जाता। सभी खराब मशीनों का वोट भाजपा को ही क्यों जाता है? इसका मतलब मशीनें खराब नहीं हो रही हैं, बल्कि उनके साथ छेड़छाड़ की जा रही है। मैं भी तकनीकी आदमी हूं और आईआईटी से इंजीनियर हूं। थोड़ी बहुत तकनीक मैं भी समझता हूं। अगर मशीन से भाजपा की स्लिप निकल रही है तो इसका मतलब है कि मशीन का सॉफ्टवेयर बदला गया है। हम कह रहे हैं कि जो भी मशीने हैं उनके साथ छेड़छाड़ बड़े स्तर पर की जा रही है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 चार युवकों पर केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी की कार का पीछा करने का आरोप, पुलिस में शिकायत दर्ज
2 40 हजार करोड मांग रहे तमिलनाडु के किसानों को नरेन्द्र मोदी सरकार ने दिये 1700 करोड रुपये