ताज़ा खबर
 

एलजी अनिल बैजल के घर धरने पर बैठे सीएम अरविंद केजरीवाल, बोले- मांग पूरी होने के बाद ही हटूंगा

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपनी तीन मांगों को लेकर उपराज्‍यपाल अनिल बैजल के आवास पर धरने पर बैठ गए हैं। उन्‍होंने कहा कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होगी, तब तक वह बैठे रहेंगे। केजरीवाल आईएएस अफसरों के हड़ताल को खत्‍म कराने की मांग कर रहे हैं।

Author नई दिल्‍ली | Updated: June 11, 2018 9:02 PM
उपराज्‍यपाल अनिल बैजल के आवास पर धरने पर बैठे सीएम अरविंद केजरीवाल। (फोटो सोर्स: टि्वटर)

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्‍यपाल के बीच मनमुटाव ने टकराव का रूप ले लिया है। केजरीवाल अपने मंत्रिमंडल के कुछ सहयोगियों के साथ उपराज्‍यपाल अनिल बैजल के आवास पर धरने पर बैठ गए हैं। सीएम केजरीवाल कामकाज का बहिष्‍कार करने वाले वरिष्‍ठ अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। उनका आरोप है कि उपराज्‍यपाल इस मामले पर ढीला-ढाला रवैया अपना रहे हैं। किसी तरह की कार्रवाई नहीं की जा रही है। सीएम केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘मैंने उपराज्‍यपाल को मांगपत्र सौंपा था, लेकिन उन्‍होंने कार्रवाई करने से इनकार कर दिया। कार्रवाई करना उपराज्‍यपाल का संवैधानिक दायित्‍व है। ऐसे में उन्‍होंने मेरे पास कोई और विकल्‍प नहीं छोड़ा। हमलोगों ने विनम्रता के साथ उपराज्‍यपाल से कहा कि वह जब तक सभी बिंदुओं पर कदम नहीं उठाएंगे तब तक हम यहां से कहीं नहीं जाएंगे। हमलोग उपराज्‍यपाल के चैंबर से निकलकर उनके वेटिंग रूम में बैठ गए हैं।’ केजरीवाल के साथ उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया, कैबिनेट मंत्री गोपाल राय और सतेंद्र जैन भी हैं। सीएम केजरीवाल की मानें तो उपराज्‍यपाल ने आईएएस अफसरों को हड़ताल खत्‍म कर काम पर लौटने का आदेश देने की उनकी मांग को मानने से इनकार कर दिया है। बता दें कि दिल्‍ली के मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश के साथ सीएम आवास में कथित मारपीट के बाद से ही दिल्‍ली के आईएएस अफसर हड़ताल पर हैं।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने ताबड़तोड़ कई ट्वीट कर अपना पक्ष स्‍पष्‍ट करने की कोशिश की है। उन्‍होंने उपराज्‍यपाल अनिल बैजल के समक्ष प्रस्‍तुत मांग के बारे में जानकारी दी है। केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘मैं उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया, सतेंद्र जैन और गोपाल राय के साथ उपराज्‍यपाल से मुलाकात की और तीन मांग उनके समक्ष रखा। पहला, दिल्‍ली में पिछले 4 महीनों से आईएएस अफसर हड़ताल पर हैं, उन्‍हें काम पर लौटने का निर्देश दिया जाए। दूसरा, उन आईएएस अफसरों को दंडित किया जाए जिन्‍होंने चार महीनों से काम रोक रखा है। तीसरा, दरवाजे पर जाकर राशन पहुंचाने की योजना के क्रियान्‍वयन को मंजूरी दी जाए।’ एक अन्‍य ट्वीट में उन्‍होंने लिखा, ‘स्‍वतंत्र भारत के इतिहास में यह पहला मौका है जब आईएएस अधिकारी हड़ताल पर हैं। क्‍यों?’ घर जाकर राशन पहुंचाने की योजना पर टिप्‍पणी करते हुए उन्‍होंने लिखा, ‘घर पर जाकर राशन पहुंचाने की योजना को क्‍या लागू नहीं होना चाहिए? क्‍या इससे जनता की मदद नहीं होगी? क्‍या इससे भ्रष्‍टाचार खत्‍म नहीं होगा? हमलोग पिछले कई महीनों से माननीय उपराज्‍यपाल से इसकी मंजूरी देने की मांग कर रहे हैं, लेकिन वह ऐसा करने से इनकार कर रहे हैं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 वीडियो: हार्दिक पटेल ने की राहुल गांधी की नकल, भड़की कांग्रेस ने यूं किया पलटवार
2 भाजपा से बोले अरविंद केजरीवाल- दिल्‍ली को पूर्ण राज्‍य बना दो, 2019 में आपके लिए प्रचार करेंगे
3 बेटों ने मां संग मिल कर काटा लालू यादव का बर्थडे केक, टीवी पर देखते रहे राजद मुखिया
ये पढ़ा क्या?
X