ताज़ा खबर
 

दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर लगेगा 2000 रुपये जुर्माना, सीएम केजरीवाल बोले- सभी प्राइवेट अस्पतालों में 80% ICU बेड होंगे रिजर्व

केजरीवाल ने छठ पूजा मनाने वालों से अपील में कहा कि लोग इस बार ये पर्व आप अपने घर पर मनाएं या अगर बाहर जाएं तो किसी तालाब में एक साथ न उतरें।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: November 19, 2020 3:32 PM
Arvind Kejriwal, Delhi, Coronavirusदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल।

देश में जहां कोरोनावायरस के मामलों में पिछले एक महीने में गिरावट आई है, वहीं दिल्ली में संक्रमण की रफ्तार तेज हुई है। आलम यह है कि राजधानी में पिछले दो हफ्तों में हालात ज्यादा बिगड़े और अब कुल संक्रमितों की संख्या 5 लाख के पार जा चुकी है। इन स्थितियों के बीच सीएम केजरीवाल ने गुरुवार को संक्रमण को थामने के लिए नए नियमों का ऐलान किया। इसके तहत अब दिल्ली में मास्क न पहनने वालों पर 500 रुपए की जगह दो हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। साथ ही इसका कड़ाई से पालन कराने के निर्देश भी दिए गए हैं।

भाजपा और कांग्रेस के नेताओं के साथ सर्वदलीय बैठक के बाद केजरीवाल ने कहा कि सभी पार्टियों ने साथ में आकर महामारी से लड़ने की बात कही है। उन्होंने कहा कि अभी सारे अस्पतालों से कहा गया है कि वे चुनिंदा सर्जरियों टाल दें। दिल्ली सरकार ने कोरोना के लिए बेड्स बढ़ाने के लिए अहम निर्णय लिया है। सभी प्राइवेट अस्पतालों में ICU के 80% बेड और नॉन ICU बेड 60% तक आरक्षित किए जा रहे हैं। दिल्ली में कुल मिलाकर 1413 ICU बेड्स बढ़ाए जा रहे हैं।

केजरीवाल ने छठ पूजा के लिए भी अपील की। उन्होंने कहा, “हम तो चाहते हैं कि आप लोग बहुत अच्छे ढंग से छठ पर्व मनाएं। लेकिन अगर आप एक साथ तालाब या नदी में जाएंगे तो उसमें से अगर किसी एक को भी कोरोना हुआ तो वो पानी के जरिए वायरस फैल जाएगा और आप सबको कोरोना हो जाएगा, तो इसलिए आप इस बार ये पर्व आप अपने घर पर मनाएं या अगर बाहर जाएं तो किसी तालाब में एक साथ न उतरें।”

दिल्ली सीएम ने कहा कि बैठक में मैंने सभी पार्टी से कहा कि दिल्ली के लोगों के लिए यह समय बहुत कठिन है जब कोरोना ​​के मामले बहुत ही बढ़ रहे हैं। इस समय हमें राजनीति नहीं करनी चाहिए है बल्कि इस समय हमें लोगों की सेवा करनी चाहिए। इस बात पर सभी पार्टियों ने सहमति रखी।

इससे पहले दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि बैठक में हमने कहा कि दिल्ली सरकार को प्रोएक्टिव अप्रोच होकर काम करना चाहिए था वो उन्होंने नहीं किया।आज से 3 महीने पहले जब गृह मंत्री ने टेस्टिंग की संख्या बढ़ाई थी तब अगर ये इस चीज़ को लगातार करते तो आज दिल्ली में जो तीसरा वेव आया उसमें जनता को परेशानी नहीं होती।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 28 साल की विधवा ने किया दूसरे निकाह से इनकार, तो ससुरालवालों ने काटी नाक और जीभ, हालत गंभीर
2 संबित पात्रा बोले, तुष्टीकरण की राजनीति करती है टीएमसी, गली-गली में लगवाए नमाज पढ़ते हुए फोटो
3 मंगेतर के शादीशुदा प्रेमी को काटा, टुकड़े सूटकेस में भर राजधानी एक्सप्रेस में बैठा और चलती ट्रेन से फेंक दिया
यह पढ़ा क्या?
X