ताज़ा खबर
 

Coronavirus को काबू करने को अरविंद केजरीवाल लाए ‘5 Ts’ प्लान, बोले- दक्षिण कोरिया जैसे करेंगे बड़े स्तर पर टेस्टिंग

मीडिया से बात करते हुए केजरीवाल ने कहा कि 5 टी प्लान का पहला टी है टेस्टिंग, दूसरा है ट्रेसिंग, तीसरा है ट्रीटमेंट, चौथा है टीम वर्क और पांचवा है ट्रैकिंग और मॉनीटरिंग।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। फोटो-ANI

देश में कोरोना का संक्रमण तेजी से फ़ेल रहा है। इसको ध्यान में रखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक नया प्लान बनाया है। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार कोरोना को रोकने के लिए विशेष योजना पर काम करेगी जिसका नाम ‘5 टी प्लान’ है। विडियो के जरिये मीडिया से बात करते हुए केजरीवाल ने कहा कि 5 टी प्लान का पहला टी है टेस्टिंग, दूसरा है ट्रेसिंग, तीसरा है ट्रीटमेंट, चौथा है टीम वर्क और पांचवा है ट्रैकिंग और मॉनीटरिंग।

वीडियो संदेश में केजरीवाल ने कहा कि हमें कोरोना से तीन कदम आगे रहना होगा। अगर सोते रहे तो कोरोना को कंट्रोल नहीं कर पाएंगे। केजरीवाल ने कहा कि अगर दिल्ली में 30 हजार ऐक्टिव मरीज भी हुए तो सरकार तैयार। फिलहाल दिल्ली में 500 मरीज हैं।

Coronavirus in India LIVE Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट 

पहला टी है टेस्टिंग इसके बारे में सीएम केजरीवाल ने कहा कि देखा गया है जिन जिन देशों में कोरोना फैला और टेस्ट नहीं हुए वहां मामला कंट्रोल नहीं हो पाया। टेस्टिंग नहीं होगी तो पता नहीं चलेगा कि कितने घरों में कोरोना है। इसलिए टेस्टिंग बहुत जरूरी। उन्होने कहा कि एक लाख रैपिड टेस्ट करने के आदेश दे दिये गए हैं। यह टेस्ट जल्द राजधानी में शुरू होंगे।

दूसरा टी है ट्रेसिंग – जब कोरोना से संक्रमित व्यक्ति का पता लग जाएगा तो यह पता करना बहुत जरूरी है कि वह किस-किस से मिला है। उन्हें ट्रेस किया जाएगा और उनसे कहा जाएगा कि 14 दिन घर में रहो, किसी से मत मिलो। इसके लिए हम पुलिस की मदद ले रहे हैं। इसके लिए हमने पुलिसवालों को 27 हजार से ज्यादा नंबर दिए हैं और पूछ रहे हैं कि ये लोग क्वॉरंटाइन हैं कि नहीं।

तीसरा टी है ट्रीटमेंट- बिना ट्रिटमेंट के कोई भी बीमारी ठीक नहीं हो सकती। सीएम ने कहा कि हमने 3000 बेड की सुविधा तैयार कर लिए हैं। जीबी पंत हॉस्पिटल में 500 बेड है और हमने उसे कोरोना अस्पताल घोषित कर दिया है। 400 बेड प्राइवेट अस्पताल में कोरोना के मरीजों के लिए रिजर्व है। उन्होंने कहा कि अगर दिल्ली में 30 हजार ऐक्टिव मरीज भी होंगे तो सरकार पूरी तैयार रहेगी। उन्होंने बताया कि इतने मरीज होने पर होटल, धर्मशाला को टेकओवर किया जाएगा। केंद्र सरकार से 27 हजार पीपीई किट्स भी आनेवाले हैं।

चौथा टी है टीम वर्क – ऐसे समय में सबसे जरूरी चीज़ टीम वर्क होती है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना को अकेले ठीक नहीं किया जा सकता है। आज सारी सरकारें एक टीम की तरह काम कर रही हैं। सभी राज्य सरकारों को मिलकर भी काम करना होगा। हमें एक दूसरे से सीखना है कि वहां क्या अच्छा काम हो रहा है। डॉक्टर और नर्स इस जंग के सबसे बड़े सिपाही, राज्य सरकारों को उनके परिवारों का भी ख्याल रखना है।

पंचवां टी है ट्रैकिंग ऐंड मॉनिटरिंग – केजरीवाल ने कहा कि सभी चीजों को ट्रैक करना सबसे जरूरी है। सभी प्लान को ट्रैक करने की जिम्मेदारी मेरी है। जो प्लान इस महामारी से लड़ने के लिए बनाया गया है बनाया ठीक चल रहा है या नहीं इसपर वह 24 घंटे नजर रखना होगा।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories