ताज़ा खबर
 

मुख्य सचिव से मारपीट का मामला: सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने का मुकदमा चलाने की तैयारी

दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ देर रात हुई मारपीट के मामले ने नया मोड़ ले लिया है। दिल्ली पुलिस इस मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के खिलाफ आपराधिक षडयंत्र रचने के मामले में मुकदमा चलाने की तैयारी में है। इन दोनों के अलावा दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी के 11 अन्य नेताओं के खिलाफ भी चार्जशीट दाखिल करने की बात कही जा रही है।

Author नई दिल्ली | Updated: June 28, 2018 3:47 PM
दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल (दाएं) और उप-मुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया। (Express photo by Anil Sharma)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मुश्किलें आने वाले समय में बढ़ सकती हैं। सूत्रों की मानें तो दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मारपीट के मामले में दोनों नेताओं के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने के तहत मुकदमा चलाया जाएगा। दिल्ली पुलिस इस ममाले में केजरीवाल और सिसोदिया के साथ ही आम आदमी पार्टी के 11 अन्य नेताओं के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने की तैयारी में है। ‘एनडीटीवी’ के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने इस बाबत उपलब्ध सबूतों और बयानों के आधार पर चार्जशीट तैयार कर ली है, जिसे जल्द ही अदालत में पेश किया जाएगा। अगर ऐसा होता है तो यह अपने तरह का पहला मामला होगा जिसमें किसी राज्य के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के खिलाफ अदालत में आरोपपत्र दाखिल किया जाएगा। बता दें कि मुख्य सचिव के पद पर आसीन किसी वरिष्ठ अधिकारी के साथ मारपीट की भी यह पहली घटना थी। हालांकि, इससे संवैधानिक पद पर आसीन दोनों नेताओं के लिए नई समस्या पैदा हो सकती है। साथ ही केंद्र और दिल्ली सरकार के बीच पहले से ही जारी शीत युद्ध के और गंभीर होने की आशंका है।

सीएम आवास पर हुई थी मारपीट: 19 फरवरी, 2018 देर रात तकरीबन 12 बजे मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को राशन कार्ड और अन्य मसलों पर बातचीत के लिए सीएम के आवास पर बुलाया गया था। मुख्य सचिव का आरोप है कि इस बैठक में उनके साथ मारपीट की गई थी और इस वाकये के वक्त सीएम केजरीवाल और डिप्टी सीएम सिसोदिया मौके पर मौजूद थे। आम आदमी पार्टी इन आरोपों को शुरुआत से ही सिरे से खारिज करती रही है। इस हाईप्रोफाइल मामले में दिल्ली पुलिस ने सीएम केजरीवाल से पूछताछ के साथ ही उनके आवास की तलाशी भी ली थी। बता दें कि एमएलसी रिपोर्ट में भी अंशु प्रकाश के साथ मारपीट की पुष्टि की गई थी। हालांकि, इस घटना के विरोध में दिल्ली के आईएएस अधिकारी कथित तौर पर हड़ताल पर चले गए थे। केजरीवाल और सिसोदिया ने इस हड़ताल को खत्म कराने के लिए अपने कुछ कैबिनेट सहयोगियों के साथ उपराज्यपाल अनिल बैजल के घर में धरने पर बैठ गए थे। केजरीवाल के इस रवैये पर दिल्ली हाई कोर्ट ने बेहद तल्ख टिप्पणी की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 4 रुपये महीना और 48 रुपये में पूरे साल गुजारा करता है यह किसान परिवार! ये रहा सरकारी सुबूत