ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली का दंगल: अरविंद केजरीवाल ने 9वें दिन खत्‍म की हड़ताल, एलजी बोले- आईएएस अफसरों से जल्‍द मिलें सीएम

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपना हड़ताल समाप्‍त कर दिया है। वह तीन प्रमुख मांगों के साथ उपराज्‍यपाल अनिल बैजल के आवास पर धरने पर बैठ गए थे। उपराज्‍यपाल ने सीएम केजरीवाल को अविलंब आईएएस अधिकारियों से मिलने को कहा है।

Author नई दिल्‍ली | June 19, 2018 7:13 PM
एलजी आवास पर धरना देते मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल व अन्‍य। (Photo: Twitter/Arvind Kejriwal)

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्‍यपाल (एलजी) अनिल बैजल के बीच पिछले 9 दिनों से चला आ रहा गतिरोध आखिरकार मंगलवार (19 जून) को समाप्‍त हो गया। केजरीवाल तीन प्रमुख मांगों को लेकर कैबिनेट के कुछ सहयोगियों के साथ 11 जून को एलजी के आवास में धरने पर बैठ गए थे। दिल्‍ली के सीएम ने आईएएस के हड़ताल को खत्‍म कराने, नौकरशाहों के खिलाफ कार्रवाई करने और जरूरतमंदों के घरों तक राशन पहुंचाने की योजना को हरी झंडी देने की मांग की थी। इससे पहले एलजी अनिल बैजल ने सीएम केजरीवाल को आईएएस अधिकारियों से दिल्‍ली सचिवालय में अविलंब मिलने को कहा था। मालूम हो कि आईएएस एसोसिएशन हड़ताल पर होने के आरोपों को सिरे से खारिज करता रहा है। अधिकारियों ने सुरक्षा की मांग की थी, जिसपर केजरीवाल ने दिल्‍ली के आईएएस अधिकारियों को हर संभव सुरक्षा मुहैया कराने का आश्‍वासन दिया था। बता दें कि इस मामले ने उस वक्‍त तूल पकड़ लिया था जब चार राज्‍यों के मुख्‍यमंत्रियों ने केजरीवाल से मिलने की अनुमति मांगी थी, लेकिन उन्‍हें इसकी इजाजत नहीं दी गई थी। कांग्रेस को छोड़ कर लगभग सभी विपक्षी दलों ने केजरीवाल का खुलकर समर्थन किया था। दिल्‍ली में सत्‍तारूढ़ आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास का घेराव करने की भी कोशिश की थी, लेकिन पुलिस ने उसे नाकाम बना दिया था।

सीएम केजरीवाल के आवास पर दिल्‍ली के मुख्‍य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित मारपीट की घटना के बाद से ही दिल्‍ली सरकार और आईएएस अधिकारियों के बीच तनातनी चल रही थी। ‘आप’ सरकार वरिष्‍ठ नौकरशाहों पर कामकाज में सहयोग न करने का आरोप लगा रही थी। दूसरी तरफ, आईएएस अधिकारियों ने सुरक्षा की मांग की थी। साथ ही हड़ताल पर होने के आरोपों को भी खारिज किया था। आईएएस एसोसिएशन ने बयान जारी कहा था कि अधिकारी दिल्‍ली सचिवालय में बातचीत करने के लिए तैयार हैं। केजरीवाल द्वारा सुरक्षा का आश्‍वासन मिलने के बाद आईएएस अधिकारियों ने सोमवार (18 जून) को कहा था कि वे औपचारिक बातचीत के लिए तैयार हैं। इस बीच, पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी, कर्नाटक के सीएम एचडी. कुमारास्‍वामी, केरल के मुख्‍यमंत्री पिनरई विजयन और आंध्र प्रदेश के मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने केजरीवाल से मिलने की इजाजत मांगी थी, लेकिन इसकी मंजूरी नहीं दी गई थी। बता दें कि दिल्‍ली हाई कोर्ट ने उपराज्‍यपाल के घर में घुसकर धरना देने पर बेहद तल्‍ख टिप्‍पणी की थी। कोर्ट ने कहा था कि आप इस‍ तरह किसी के घर में घुसकर धरना नहीं दे सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App