ताज़ा खबर
 

भयावह: दिनदहाड़े कैब ड्राइवर ने की महिला जज को अगवा करने की कोशिश, पुलिस ने किया अरेस्ट

इस घटना के बाद दिल्ली हाई कोर्ट ने खुद मामले में हस्तक्षेप किया और महिला जजों की सुरक्षा को लेकर चिंता सरकार के सामने रखी।

Author नई दिल्ली | November 28, 2017 11:29 AM

राजधानी दिल्ली में हैरतअंगेज मामला सामने आया है, जिसने एक बार फिर महिलाओं की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं। सोमवार को एक महिला जज ने आरोप लगाया कि कोर्ट आते समय कैब ड्राइवर ने उन्हें अगवा करने की कोशिश की। पुलिस ने ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है। इस घटना के बाद दिल्ली हाई कोर्ट ने खुद मामले में हस्तक्षेप किया और महिला जजों की सुरक्षा को लेकर चिंता सरकार के सामने रखी। रजिस्ट्रार जनरल दिनेश कुमार ने टाइम्स अॉफ इंडिया को बताया कि घटना उस वक्त हुई, जब सोमवार को सुबह 10 बजे महिला जज ने सेंट्रल दिल्ली स्थित अपने घर से कड़कड़डूमा कोर्ट जाने के लिए कैब ली। महिला जज की शिकायत के मुताबिक कैब ड्राइवर मयूर विहार की तरफ टर्न लेने के बजाय कार को उत्तर प्रदेश की ओर ले जाने लगा।

डर के मारे महिला जज राजेश नाम के ड्राइवर पर चिल्लाई। इसके बाद उन्होंने पुलिस को खबर कर ड्राइवर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, साथ ही एक सहयोगी को मामले की जानकारी दी। खुद को फंसता देख ड्राइवर ने यू-टर्न लिया और गाड़ी दिल्ली की ओर मोड़ ली। जज के फोन के जरिए पुलिस ने कार की लोकेशन का पता लगाया, जो गाजीपुर टोल प्लाजा के पास थी। इसके बाद ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया। उस पर किडनैपिंग का मामला दर्ज किया गया है। हालांकि उसका कहना है कि उसने बाएं हाथ पर एक टर्न मिस कर दिया था, इसलिए वह सीधा चलता रहा, लेकिन उसे लेफ्ट टर्न नहीं मिला। पुलिस मखीजा ट्रैवल्स की भी जांच कर रही है, जो इस कार की मालिक है।

टाइम्स अॉफ इंडिया के सूत्रों के मुताबिक जब मामले की जानकारी कार्यकारी चीफ जस्टिस गीता मित्तल को मिली तो उन्होंने महिला जजों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई और इसके बारे में दिल्ली सरकार के कानून विभाग को बताया। रिपोर्ट्स के मुताबिक जस्टिस मित्तल ने जजों को अलग कार मुहैया कराने पर जोर दिया, जिनकी सुरक्षा सर्वोपरि है। फिलहाल सरकार अधीनस्थ न्यायाधीशों को आने-जाने के लिए कैब मुहैया कराती है।

देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App