ताज़ा खबर
 

पड़ोसी के सेप्टिक टैंक में गिरने से बच्चे की मौत

नरेला थाना क्षेत्र में भैया दूज के दिन एक निर्माणाधीन मकान के सेप्टिक टैंक में गिरने से तीन साल के एक बच्चे की मौत हो गई। सेप्टिक टैंक का मेन हॉल खुला हुआ था। घटना के समय बच्चे के पिता काम पर गए थे और उसकी मां घर के अंदर काम कर रही थी, तभी बच्चा खेलते हुए टैंक में गिर गया था।

Author November 10, 2018 5:53 AM
घटना की सूचना शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे पुलिस को मिली थी।

जनसत्ता संवाददाता

नरेला थाना क्षेत्र में भैया दूज के दिन एक निर्माणाधीन मकान के सेप्टिक टैंक में गिरने से तीन साल के एक बच्चे की मौत हो गई। सेप्टिक टैंक का मेन हॉल खुला हुआ था। घटना के समय बच्चे के पिता काम पर गए थे और उसकी मां घर के अंदर काम कर रही थी, तभी बच्चा खेलते हुए टैंक में गिर गया था। घटना की सूचना शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे पुलिस को मिली थी। सूचना मिलने पर पुलिस ने शव को बाहर निकाला और पास के अस्पताल में पहुंचाया, जहां पर तीन साल के धु्रव को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि धु्रव को नहलाने के बाद उसकी मां बेटी को भैया दूज की पूजा के लिए नहला रही थी, तभी यह हादसा हुआ। फिलहाल पुलिस ने आरोपी मकान मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी मकान मालिक घटना के बाद से फरार है।

रोहिणी जिला पुलिस के अतिरिक्त उपायुक्त गौरव शर्मा के मुताबिक, शंकर भगत परिवार के साथ नरेला के संजय कॉलोनी में रहते हैं। तीन साल के धु्रव को नहलाने के बाद मां ने उसे घर के बाहर धूप में बैठा दिया था। बेटी को नहलाने के बाद जब पीड़ित मां बच्चे की तलाश में घर से बाहर निकली तो वह नहीं मिला। इसकी सूचना शंकर को दी गई। शंकर ने भी काम पर से वापस आकर बच्चे को आसपास खोजा, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। इसके बाद जब पड़ोस के निर्माणाधीन मकान के पास पहुंचे और सेप्टिक टैंक के अंदर देखा तो सभी के होश उड़ गए। स्थानीय लोगों के मुताबिक, धु्रव पानी के ऊपर तैर रहा था। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलने पर पुलिस धु्रव को पास के अस्पताल में लेकर पहुंची, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया कि जिस मकान के सेप्टिक टैंक में धु्रव गिरा था। वह कुछ महीनों से बंद पड़ा था। फिलहाल इस संबंध में आरोपी मकान मालिक के खिलाफ लापरवाही समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है और उसकी तलाश की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App