ताज़ा खबर
 

DELHI: चुनाव से पहले BJP ने प्रदेश उपाध्यक्ष को हटाया, जेपी की जगह सत्येंद्र को जिम्मेदारी, पार्टी में हड़कंप

चर्चा है कि वह सदर बाजार से विधानसभा के टिकट के दावेदार भी हैं। लेकिन अब उनके टिकट को लेकर संदेह जताया जा रहा है। इसको लेकर उनके समर्थकों में बेचैनी है।

Author दिल्ली | Updated: December 10, 2019 7:21 PM
दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली में विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी ने संगठन में पार्टी के उपाध्यक्ष समेत कई लोगों को बदल दिया। प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने ट्वीट करके यह जानकारी दी। प्रदेश  उपाध्यक्ष जयप्रकाश उर्फ जेपी की जगह सत्येंद्र सिंह को नया उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है। विजय पंडित को महरौली जिले का अध्यक्ष और पवन राठी को महामंत्री बनाया गया है। अभी तक जिला महामंत्री रहे विकास तंवर कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में कामकाज देख रहे थे। अब वह केवल महामंत्री की ही जिम्मेदारी निभाएंगे।

संगठन में फेरबदल से पार्टी में हलचल:  संगठन में इस बदलाव से पार्टी में हलचल मच गई। हालांकि बीजेपी इसे सामान्य बात बता रही है। वरिष्ठ नेता जयप्रकाश उर्फ जेपी को हटाने पर कई लोगों को हैरानी भी हुई। वह केंद्रीय नेतृत्व के करीबी माने जाते हैं। उनको हटाए जाने के बाद कई और नेताओं को भी अपनी स्थिति में बदलाव की संभावना दिखने लगी है। इन सबके बीच पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि निर्णय सबकी सहमति से लिया गया है। इसमें कुछ आश्चर्य की बात नहीं है।

Hindi News Today, 10 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

सदर बाजार से टिकट के दावेदार भी हैं: वैसे पार्टी में एक व्यक्ति एक सिद्धांत की परिपाटी है। वरिष्ठ नेता जयप्रकाश उर्फ जेपी नॉर्थ एमसीडी की स्थायी समिति के चेयरमैन भी हैं। चर्चा है कि वह सदर बाजार से विधानसभा के टिकट के दावेदार भी हैं। लेकिन अब उनके टिकट को लेकर संदेह जताया जा रहा है। इसको लेकर उनके समर्थकों में बेचैनी है। कई लोगों का कहना है कि कुछ लोग उनका विरोध कर रहे थे।

कई और नेताओं को कुर्सी जाने की आशंका : पार्टी के सूत्रों का कहना है कि एक सांसद से उनकी करीबी की वजह से उन्हें हटाया गया है। हालांकि किसी ने इसकी पुष्टि नहीं की है। दिल्ली में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पार्टी में इस तरह के बदलाव से कई तरह की चर्चाएं हैं। कुछ अन्य पदाधिकारियों को भी अपनी कुर्सी हिलती दिख रही है। गौरतलब है कि अगले साल के शुरुआत में दिल्ली विधानसभा का चुनाव होने वाला है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
ये पढ़ा क्‍या!
X