सीलिंग के विरोध में व्यापारियों का आज दिल्ली बंद- 'Delhi bandh' on Jan 23 to protest sealing drive - Jansatta
ताज़ा खबर
 

सीलिंग के विरोध में व्यापारियों का आज दिल्ली बंद

दिल्ली में जारी सीलिंग की कार्रवाई के विरोध में मंगलवार को दो हजार से अधिक व्यापारिक संगठनों के सात लाख से ज्यादा कारोबारी अपना कारोबार बंद रख कन्फेडरेशन आॅफ आॅल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के आह्वान पर हो रहे दिल्ली व्यापार बंद में शामिल होंगे।

Author नई दिल्ली | January 23, 2018 1:49 AM
कैट के महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि शहरी क्षेत्र के प्रमुख बाजार आज बंदल रहेंगे। ( फाइल फोटो)

दिल्ली में जारी सीलिंग की कार्रवाई के विरोध में मंगलवार को दो हजार से अधिक व्यापारिक संगठनों के सात लाख से ज्यादा कारोबारी अपना कारोबार बंद रख कन्फेडरेशन आॅफ आॅल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के आह्वान पर हो रहे दिल्ली व्यापार बंद में शामिल होंगे। इस दौरान सभी थोक व खुदरा बाजार बंद रहेंगे और कोई भी कारोबारी गतिविधि नहीं होगी।

कैट के महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया कि शहरी क्षेत्र में चांदनी बाकी पेज 8 पर चौक, खारी बावली, कश्मीरी गेट, सदर बाजार, चावड़ी बाजार, नई सड़क, नया बाजार, श्रद्धानंद बाजार, लाहौरी गेट, दरियागंज, मध्य दिल्ली में कनॉट प्लेस, करोलबाग, पहाड़गंज, खान मार्केट, उत्तरी दिल्ली में कमला नगर, अशोक विहार, मॉडल टाउन, शालीमार बाग, पीतमपुरा, पंजाबी बाग, पश्चिमी दिल्ली में राजौरी गार्डन, तिलक नगर, उत्तमनगर, जेल रोड, नारायणा, कीर्ति नगर, द्वारका, जनकपुरी, दक्षिणी दिल्ली में ग्रेटर कैलाश, साउथ एक्सटेंशन, डिफेंस कॉलोनी, हौज खास, ग्रीन पार्क, यूसुफ सराय, सरोजिनी नगर, तुगलकाबाद, कालकाजी और पूर्वी दिल्ली में लक्ष्मी नगर, प्रीत विहार, मयूर विहार, शाहदरा, कृष्णा नगर, गांधी नगर, दिलशाद गार्डन, लोनी रोड सहित सभी प्रमुख बाजार पूरी तरह बंद रहेंगे।

व्यापार बंद के दौरान दिल्ली के व्यापारी विभिन्न इलाकों में छह जगह धरना देंगे। इनमें मुख्य धरने शहरी क्षेत्र में चौक हौज काजी, चावड़ी बाजार मेट्रो स्टेशन पर, कमला नगर, मॉडल टाउन, राजौरी गार्डन, साउथ एक्सटेंशन और कृष्णा नगर में होंगे। विभिन्न बाजारों में व्यापारी सुबह विरोध मार्च भी निकालेंगे। व्यापारियों की मांग है कि दिल्ली सरकार व्यापारियों को सीलिंग से बचाने के लिए तुरंत कदम उठाए। कैट ने यह भी कहा कि लोकल शॉपिंग सेंटर कामर्शियल दरों पर दिए गए थे इसलिए उनसे कन्वर्जन शुल्क लेना कहां तक उचित है और उनको सील किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। दिल्ली में फिलहाल जिस तरह से सीलिंग हो रही है और नगर निगमों ने कानून को ताक पर रख दिया है उसको लेकर व्यापारियों में नाराजगी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App