ताज़ा खबर
 

Delhi कार हादसा: रंजना के भाई का जीजा पर आरोप, कहा- मेरी बहन व भांजियों को साजिशन जलाया गया

दिल्ली के अक्षरधाम के पास हुए कार हादसे में एक नया मोड़ आया है। इस मामले में मृतक रंजना के भाई ने इस हादसे को हत्या बताते हुए अपने जीजा पर आरोप लगाया है।

दिल्ली में अक्षरधाम के पास हुए हादसे में जली कार, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के पास रविवार (10 मार्च) को हुए हादसे में एक नया मोड़ आया है। हादसे में मां और दो बेटियों के कार में जिंदा जलने के मामले में मृतक रंजना के परिजनों ने गंभीर आरोप लगाए हैं। रंजना के भाई बृज किशोर का आरोप है कि उसके जीजा उपेन्द्र ने ही जानबूझकर कार में आग लगाई।

बहन से मारपीट करता था जीजा: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मृतक रंजना के भाई बृज किशोर का कहना है कि उसका जीजा उपेन्द्र उसकी बहन के साथ मारपीट करता था। किशोर ने कहा कि शादी के बाद से उपेन्द्र उसकी बहन को कभी भी कहीं घुमाने नहीं ले गया था, लेकिन जिस दिन यह हादसा हुआ, उस दिन पहली बार वह उसकी बहन को घुमाने अक्षरधाम मंदिर ले जा रहा था। भाई ने आरोप लगाते हुए कहा कि तीन बेटियां होने की वजह से उसका जीजा खुश नहीं था। इस बात को लेकर अक्सर उनके बीच विवाद होता रहता था। ऐसे में साजिश करके उपेन्द्र ने उसकी बहन सहित बेटियों को जला दिया।

पुलिस का क्या है कहना: इस पूरे मामले पर शुरुआती जांच के बाद पुलिस का कहना है कि आग का कारण शॉर्ट सर्किट हो सकता है। वहीं पुलिस उपायुक्त जसमीत सिंह ने रंजना के भाई के आरोपों पर कहा कि एफएसएल टीम ने सोमवार को कार की जांच कर ली है, रिपोर्ट आने के बाद कार में आग लगने के कारण साफ हो जाएंगे। बता दें कि पोस्टमॉर्टम के बाद पुलिस ने रंजना और बेटियों रिद्धि- निक्की के शव परिजनों को सौंप दिए थे।

क्या है पूरा मामला: दरअसल पूरा मामला दिल्ली के अक्षरधाम मंदिर के पास का है। जहां रविवार (10 मार्च) को चलती कार में अचानक आग लग गई और उसमें दो बच्चियों सहित एक महिला जिंदा जल गई। बताया जा रहा है कि आग इतनी तेजी से फैली कि कार रोककर चालक उपेंद्र अपनी एक बेटी को किसी तरह बाहर खींच सकने में तो कामयाब हो गए, लेकिन आग से घिर चुकी कार में से अपनी पत्नी और दो बच्चियों को नहीं निकाल सके। नतीजतन, चारों तरफ खड़ी भीड़ के बीच तीनों जिंदा जल गए। अग्निशमन दस्ते की गाड़ी जब तक पहुंचती, तब तक कार और उसमें फंसे तीनों लोग खाक हो चुके थे।

कौन थे कार में सवार: कार में उपेंद्र सहित उनकी पत्नी रंजना और तीन बेटियां थी। पुलिस के मुताबिक एटा के रहने वाले उपेन्द्र की शादी उदयपुरा की रहने वाली रंजना से 2004 में हुई थी। दोनों की तीन बेटियां रिद्धि, निक्की और सिद्धि थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App