ताज़ा खबर
 

DDCA मामले में AAP ने किए जेटली से 5 सवाल और लगाया अस्पष्ट जवाब देने का आरोप

आम आदमी पार्टी ने शुक्रवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली से दिल्ली की क्रिकेट संस्था डीडीसीए में भ्रष्टाचार के अपने आरोप के सिलसिले में पांच विशेष सवाल किए।
Author नई दिल्ली | December 19, 2015 01:20 am

आम आदमी पार्टी ने शुक्रवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली से दिल्ली की क्रिकेट संस्था डीडीसीए में भ्रष्टाचार के अपने आरोप के सिलसिले में पांच विशेष सवाल किए। साथ ही पार्टी ने उन पर आरोपों का अस्पष्ट जवाब देने का आरोप लगाया।
जेटली को ‘अर्द्धसत्य और खूबसूरत झूठ का मालिक’ करार देते हुए आप नेता आशुतोष ने वित्त मंत्री के खिलाफ कुछ नए खास आरोप लगाए और कहा कि उनकी यह टिप्पणी कि उनके खिलाफ विशेष आरोप नहीं हैं, बड़ी गुमराह करने वाली है। जेटली ने इन आरोपों को दिल्ली सचिवालय पर सीबीआइ छापे के बाद खुद के फंस जाने पर लोगों का ध्यान बांटने के लिए केजरीवाल की ओर से अपनाई गई दुष्प्रचार तकनीक करार देकर उन्हें खारिज किया।

आशुतोष ने यहां प्रेस कांफ्रेंस में डीडीसीए पर निजी कंपनी ‘21 सेंचुरी’ को फिरोज शाह कोटला स्टेडियम में 10 कारपोरेट बॉक्स लीज के बाद लीज देने की इजाजत देने का आरोप लगाया और दावा किया कि जेटली के एक मित्र की कंपनी को इस सौदे के लिए पांच करोड़ रुपए से अधिक का वित्तीय लाभ पहुंचाया गया। आप नेता ने जेटली से यह स्पष्ट करने को कहा कि 21 सेंचुरी के सदस्य कौन थे और क्या उसमें उनका कोई रिश्तेदार था।

उन्होंने जेटली पर ओएनजीसी पर हॉकी इंडिया को पांच करोड़ रुपए देने का दबाव डालने का भी आरोप लगाया और पूछा कि उसके पीछे क्या कारण था। फिरोजशाह कोटला स्टेडियम के पुनर्निर्माण में बड़ी वित्तीय अनियमितताओं का आरोप लगाते हुए आप नेता ने कहा कि इस परियोजना के लिए सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी ईपीआइएल को 57 करोड़ रुपए दिए गए और 114 करोड़ रुपए का बाकी 57 करोड़ नौ कंपनियों में बांटा गया।

उन्होंने कहा-इन कंपनियों के पंजीकृत पते, ई-मेल और निदेशक एक जैसे ही थे। क्या जेटली इन कंपनियों को जानते थे और क्या यह भ्रष्टाचार नहीं है? जेटली के इस बयान पर कि एसएफआइओ की रिपोर्ट में उन्हें दोषमुक्त करार दिया गया है, आशुतोष ने कहा कि वित्त मंत्री ने यह तथ्य छिपाया कि इस केंद्रीय एजंसी द्वारा जिन अपराधों का उल्लेख किया है, उसकी सजा में कैद शामिल है। उन्होंने कहा- हमने खास सवाल किए हैं और जेटली ने अस्पष्ट जवाब दिया। यही वजह है कि हम उनके लिए पांच खास सवाल लेकर आ रहे हैं।

आप नेताओं ने जेटली से हॉकी इंडिया के प्रमुख नरेंद्र बत्रा से अपने संबंध के बारे में भी बताने को कहा। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने केंद्रीय खेल मंत्रालय से डीडीसीए मामले में चिट्ठी मिलने के बाद डीडीसीए में अनियमितताओं की जांच के लिए एक समिति बनाई थी। गृह मंत्रालय ने डीडीसीए में अनियमितताओं के बारे में खेल मंत्रालय को लिखा था जिसने फिर दिल्ली सरकार को लिखा।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के खिलाफ आरोपों के सिलसिले में दिल्ली सचिवालय पर सीबीआइ छापे के बाद आप दावा कर रही है कि इस केंद्रीय एजंसी ने आप प्रमुख को निशाना बनाने के लिए तलाशी ली और वह डीडीसीए भ्रष्टाचार से जुड़ी फाईल ढूंढ़ रही थी। तब से पार्टी जेटली का केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा मांग रही है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.