ताज़ा खबर
 

DCW ने कोठे संचालिकाओं को भेजे 125 समन

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्लू) ने जीबी रोड के कोठों के असली मालिकों का पता लगाने के लिए गुरुवार को जीबी रोड पर जाकर कोठे संचालिकाओं को 125 समन दिए।

Author नई दिल्ली | September 8, 2017 1:45 AM
DCW की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्लू) ने जीबी रोड के कोठों के असली मालिकों का पता लगाने के लिए गुरुवार को जीबी रोड पर जाकर कोठे संचालिकाओं को 125 समन दिए। जिन कोठों की संचालिकाओं ने समन लेने से मना किया, वहां डीसीडब्लू की टीम ने उन कोठों की दीवारों पर समन चिपका दिए। सभी को 21 सितंबर से 25 सितंबर तक आयोग के समक्ष पेश होना है। डीसीडब्लू का कहना है कि जीबी रोड मानव तस्करी का एक बड़ा अड्डा बना हुआ है। देश के दूरदराज और गरीब इलाकों से छोटी-छोटी बच्चियों की तस्करी करके उन्हें जीबी रोड पर लाकर बेच दिया जाता है और वहां 30-30 लोग इन बच्चियों का रोज शोषण करते हैं। इन कोठों के असली मालिकों का पता नहीं चल पाता है जिससे कार्रवाई के दौरान सिर्फ कोठे के संचालक व संचालिका पकड़े जाते हैं। असली मालिक कानून के शिकंजे से छूट जाते हैं। असली मालिक न पकड़े जाने से जीबी रोड पर कोठे चल रहे हैं और बदस्तूर छोटी बच्चियों का शोषण जारी है।

बच्चियों एवं महिलाओं के शोषण को रोकने के लिए डीसीडब्लू ने गुरुवार से जीबी रोड पर कोठों के असली मालिकों का पता लगाने के लिए यह मुहिम शुरू की। आयोग ने पुलिस, बिजली विभाग, जल बोर्ड एवं एसडीएम, सहित अन्य विभागों को नोटिस जारी कर कोठों के असली मालिकों का पता लगाने के लिए उनके नाम मांगे थे। जिस पर आयोग को विभागों से कोठों के अलग-अलग मालिकों के नाम मिले हैं जिसके आधार पर आयोग ने यह मुहिम शुरू की है।

अब सब को डीसीडब्लू ने आइडी प्रूफ लेके आने को कहा गया है। आयोग अध्यक्ष स्वाति जयहिंद ने कहा कि संसद से 3 किलोमीटर पर यह गोरख धंधा चलता है। सत्ता की मिली भगत से चलता है। चाहे कुछ भी हो जाए डीसीडब्लू कोठे के असली मालिकों तक पहुंच कर कोठे बंद करवाकर और महिलाओं का पुनर्वास करके रहेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App