ताज़ा खबर
 

बहू ने लगा ली फांसी, पति वीडियो बनाता रहा

इस मामले में पुलिस का भी मानना है कि उक्त वीडियो किसी बाहर के व्यक्ति ने नहीं, स्वयं परिजनों ने बनाया है। उसमें सास व ननद की आवाज दर्ज है जो केवल मुंहजबानी कोशिशें करतीं लग रही हैं और पति बेपरवाही से वीडियो क्लिप बनाते हुए उसे और उकसा रहा है।

Author July 30, 2018 2:45 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

जिले के थाना हाईवे क्षेत्र की बुद्ध विहार कालोनी में दहेज के लिए ससुरालियों के उत्पीड़न व रोज-रोज के तानों से तंग युवती ने फांसी लगा ली, जबकि उसका पति उसे आत्महत्या करने से रोकने के बजाय लाइव वीडियो बनाता रहा। पुलिस के अनुसार यह घटना गुरुवार को घटी थी। इसकी जानकारी मिलते ही इलाका पुलिस व युवती के परिजन उसी रात उसके घर पहुंच गए थे।

पुलिस ने ससुरालियों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न व गैरइरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर उसके पति राजकपूर व सास विमला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। लेकिन दो दिन बाद, शनिवार की शाम सोशल मीडिया पर वायरल हुए 12 मिनट 14 सेकेंड के एक वीडियो ने इस घटना का सबसे हृदयविदारक पक्ष सामने लाकर रख दिया जिसके अनुसार जिस समय ससुरालियों की प्रताड़ना से आजिज बहू आत्महत्या कर रही थी, उस समय उसका पति वीडियो बना रहा था और सास व ननद दरवाजे के बाहर खड़ी होकर उसे खुदकुशी न करने की कसम दिला रही थीं।

इस मामले में पुलिस का भी मानना है कि उक्त वीडियो किसी बाहर के व्यक्ति ने नहीं, स्वयं परिजनों ने बनाया है। उसमें सास व ननद की आवाज दर्ज है जो केवल मुंहजबानी कोशिशें करतीं लग रही हैं और पति बेपरवाही से वीडियो क्लिप बनाते हुए उसे और उकसा रहा है। एसपी सिटी श्रवण कुमार ने बताया कि वीडियो आने के बाद पुलिस ने इस मामले की नए सिरे से जांच शुरू कर दी है क्योंकि इस वीडियो से प्रथमदृष्ट्या यह तो सीधे तौर पर सिद्ध हो रहा है कि गीता के ससुराली उसको बचाने में नहीं, मर जाने देने में ज्यादा खुश थे। उन्होंने बताया कि परिजनों के अनुसार प्रेमनगर निवासी गीता की राजकपूर से 22 अप्रैल 2015 को शादी हुई थी। कुछ दिनों के बाद से ही उसके ससुरालीजन कार की मांग को लेकर उसका रोजाना उत्पीड़न करने लगे थे। अक्सर उसे कम दहेज लाने का ताने देते थे और कई बार तो मारते-पीटते भी थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App