ताज़ा खबर
 

टीवी-फ्र‍िज है, पर टॉयलेट नहीं, पत‍ि इंजीन‍ियर, पत्‍नी बोलीं- ब‍िना बने नहीं जाऊंगी ससुराल

मारवा टोला के इस घर में टीवी-फ्रिज से लेकर हर तरह की सुख सुविधाएं उपलब्ध हैं, लेकिन टॉयलेट नहीं है और सबसे आश्चर्य की बात यह है कि लड़की का पति इंजीनियर है, लेकिन फिर भी घर में शौचालय नहीं है।

तस्वीर का प्रयोग प्रतीक के तौर पर किया गया है।

कुछ दिनों पहले बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार और एक्ट्रेस भूमि पेडनेकर की फिल्म ‘टॉयलेट: एक प्रेम कथा’ बड़े पर्दे पर आई थी। इस फिल्म के जरिए घर-घर में टॉयलेट बनाने का बहुत ही प्रभावशाली संदेश दिया गया था। फिल्म में दिखाया गया था कि कैसे ससुराल में टॉयलेट न होने पर एक्ट्रेस अपने पति का घर छोड़कर चली जाती है और तभी वापस आती है, जब ससुराल में टॉयलेट बनता है। यह तो केवल एक फिल्म थी, लेकिन अब ऐसा ही कुछ असल जिंदगी में भी घटा है।

हम बात कर रहे हैं बिहार के गोपालगंज के मांझा ब्लॉक के मारवा टोला गांव की। यहां करीब चार महीने से पत्नी अपने पति से इसलिए नाराज चल रही थी, क्योंकि उसके ससुराल में टॉयलेट नहीं था। करीब चार महीने पहले इस गांव के एक लड़के की शादी हुई थी। शादी के बाद जब बहू को पता चला कि उसके ससुराल में शौचालय नहीं है तो उसने ससुराल जाने से मना कर दिया। उस दिन के बाद से ही बहू अपने ससुराल नहीं गई है।

जागरण के मुताबिक मारवा टोला के इस घर में टीवी-फ्रिज से लेकर हर तरह की सुख सुविधाएं उपलब्ध हैं, लेकिन टॉयलेट नहीं है और सबसे आश्चर्य की बात यह है कि लड़की का पति इंजीनियर है, लेकिन फिर भी घर में शौचालय नहीं है। रविवार को जब बीडीओ मारवा टोला गांव पहुंचे, तब उन्होंने इस परिवार को समझाया कि घर में शौचालय होना महिलाओं की इज्जत और सुरक्षा के लिए कितना जरूरी होता है। शौचालय के महत्व के बारे में बीडीओ द्वारा जानकारी मिलने के बाद अब बहू के ससुराल वालों ने शौचालय बनाने के लिए हामी भर दी है। उन्होंने बीडीओ के सामने ही टॉयलेट के लिए गड्ढा भी खोदा।

इस बात की जानकारी बहू को भी दे दी गई है और अब बहू चार महीने बाद अपने ससुराल आने की तैयारी कर रही है। बता दें कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत हर घर में शौचालय बनाया जा रहा है। मांझा ब्लॉक के वार्ड सात के मारवा टोला गांव में अभी भी बहुत से घरों में टॉयलेट नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App