ताज़ा खबर
 

छात्रा एश्वर्या की मौत के मामले में दबाव बनाने वाले दरोगा, एचओडी व छात्र सहित पुलिस ने भेजा जेल…

उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में बीसीए में पढ़ने वाली छात्रा एश्वर्या की मौत के मामले में दबाव बनाने वाले दरोगा व एचओडी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
Author कानपुर | April 5, 2018 06:29 am
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में बीसीए में पढ़ने वाली छात्रा एश्वर्या की मौत के मामले में दबाव बनाने वाले दरोगा व एचओडी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मामले में फरार एक अन्य आरोपी छात्र पर एसएसपी ने 10 हजार का इनाम घोषित कर दिया है। पकड़े गये दरोगा,एचओडी व एक आरोपी छात्र को जेल भेज दिया गया है। बुधवार देर शाम वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार मीणा ने पत्रकार वार्ता कर बताया कि दरोगा अजय मिश्रा व एचओडी ममता तिवारी के साथ आरोपी छात्र अनिकेत दीक्षित पर मुकदमा दर्ज करते हुए जेल भेजा जा रहा है.दरोगा के खिलाफ विभागीय जांच सहित प्रकरण की जांच पुलिस उपाधीक्षक कर्नलगंज मनोज गुप्ता को सौंपी गई है। जांच के आधार पर दोषियों पर धारा बढ़ाई जाएगी। वहीं फरार अनिकेत पांडेय पर 10 हजार का इनाम घोषित किया गया।इसके साथ ही उसका पता व जानकारी देने वालों का नाम गुप्त रखने की बात एसएसपी ने कही।

गौरतलब है कि आदर्श नगर में रहने वाले दन्त चिकित्सक दिनेश चन्द्र शर्मा की बेटी एश्वर्या ने दो दिन पूर्व छेड़छाड़ के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।मामले में आरोपी छात्रों पर कार्यवाही न करते हुए चौकी इंचार्ज अजय मिश्रा व एचओडी ममता तिवारी ने छात्रा पर शिकायत वापस लेने का दबाव बनाये जाने की बात सामने आई।परिजनों के मुताबिक मानसिक रूप से दरोगा व एचओडी द्वारा बेटी को शिकायत वापस लेने के लिए प्रताड़ित किया गया।

यही नहीं बदनामी व अन्य तरीके से भविष्य खराब करने की भी बात कही गई।जिससे छात्रा पूरी तरह से टूट गई और उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर जैसा कदम उठा लिया।लेकिन इस मामले में शासन व डीजीपी ने गंभीरता से लेते हुए एडीजी व आईजी को बुधवार तलब कर लिया।छात्रा के फांसी प्रकरण के शासन स्तर पर तूल पकड़ते ही जनपद पुलिस हरकत में आई और मृतक छात्रा के परिजनों की तहरीर पर दोषी दरोगा व एचओडी को गिरफ्तार कर लिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App