ताज़ा खबर
 

डेनिश महिला से दुष्कर्म मामला: सरकारी वकील ने दोषियों के लिए ‘उम्रकैद’ की सजा की मांग की

पांच लोग 14 जनवरी 2014 की रात एक डेनिश महिला को चाकू का डर दिखाकर रेलवे स्टेशन के समीप डिवीजनल रेलवे आफिसर्स क्लब के समीप एकांत में ले गए तथा उसे लूटा एवं उससे सामूहिक बलात्कार किया।

Author नई दिल्ली | June 9, 2016 8:33 PM
अधिकतम सजा की मांग करते हुए अभियोजक ने दलील दी कि विदेशी के साथ हुआ अपराध बर्बरतापूर्ण एवं अमानवीय ढंग से किया गया तथा इन दोषियों ने देश की छवि पर धब्बा लगाया है।

दिल्ली पुलिस ने शहर की एक अदालत में मांग की है कि दो साल पहले नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के समीप डेनमार्क की 52 वर्षीय एक महिला के साथ सामूहिक बलात्कार के सभी पांच दोषियों को आजीवन कारावास की सजा दी जाए। अदालत इस मामले में शुक्रवार (10 जून) को सजा सुनाएगी। अधिकतम सजा की मांग करते हुए अभियोजक ने दलील दी कि विदेशी के साथ हुआ अपराध बर्बरतापूर्ण एवं अमानवीय ढंग से किया गया तथा इन दोषियों ने देश की छवि पर धब्बा लगाया है।

विशेष लोक अभियोजक ने सजा की मात्रा के बारे में दलील देते हुए कहा, ‘जिस तरह से अपराध किया गया, उसमें सामूहिक बलात्कार के बारे में नए कानून के तहत निर्धारित अधिकतम सजा यानी जीवित रहने तक कैद दी जानी चाहिए। एक विदेशी के साथ अपराध किया गया तथा समाज में यह संदेश जाना चाहिए कि भारत में कानून का शासन है तथा गलत काम करने वालों से कठोरता से निपटा जाता है।’

कानूनी सहायता के वकील एवं दोषियों का प्रतिनिधित्व करने वाले दिनेश शर्मा ने इस आधार पर दोषियों के साथ नरमी बरते जाने का अनरोध किया कि उनकी आयु 20 से 30 वर्ष के बीच है तथा वे गरीब पृष्ठभूमि से आते हैं। इस अपराध में 20 साल की न्यूनतम सजा उनके लिए पर्याप्त है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश रमेश कुमार ने सजा की मात्रा के बारे में दलीलों को सुनने के बाद अपना आदेश शुक्रवार (10 जून) के लिए सुरक्षित कर लिया। अदालत ने छह जून को महेन्द्र उर्फ गंजा (25), मोहम्मद राजा (25), राजू (23), अर्जुन (21) एवं राजू चक्का (30) को सामूहिक बलात्कार, डकैती, अपहरण, गलत ढंग से कैद में रखने, आपराधिक रूप से धमकाने एवं साझा मंशा संबंधित भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत आरोपी ठहराया था।

छठे आरोपी 56 वर्षीय श्यामलाल की इस साल फरवरी में मौत हो गई थी। इस मामले के तीन अन्य आरोपी किशोर हैं तथा उनके खिलाफ किशोर न्याय बोर्ड में जांच चल रही है। अभियोजन के अनुसार पांच लोग 14 जनवरी 2014 की रात एक डेनिश महिला को चाकू का डर दिखाकर रेलवे स्टेशन के समीप डिवीजनल रेलवे आफिसर्स क्लब के समीप एकांत में ले गए तथा उसे लूटा एवं उससे सामूहिक बलात्कार किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App