ताज़ा खबर
 

Rajasthan: पुलिस हिरासत में दलित युवक की मौत, मुआवजे का ऐलान कर BJP ने दी चेतावनी- एक्शन नहीं लिया तो होगा विरोध

राजस्थान के कोटा में पुलिस हिरासत में हुई मौत पर बीजेपी ने सरकार पर साधा निशाना है। बता दें कि मामले में दोषी पुलिस वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

Author जयपुर | Updated: August 31, 2019 8:55 AM
प्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

भारतीय जनता पार्टी ने कोटा में कथित तौर पर पुलिस हिरासत में एक दलित युवक की मौत के मामले में दोषी पुलिस वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है। राजस्थान विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया के नेतृत्व में भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार (30 अगस्त) को राज्य के पुलिस महानिदेशक भूपेन्द्र सिंह से मिला। बता दें कि प्रतिनिधि मंडल ने पुलिस हिरासत में दलित युवक की मौत पर संबंधित पुलिसर्किमयों के खिलाफ हत्या की धाराओं में मामला दर्ज करने सहित अन्य मांगों का ज्ञापन सौंपा है।

कटारिया ने आर्थिक सहायता के साथ न्याय की मांग कीः इस मामले में कटारिया ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी द्वारा इस संबंध में विधायक मदन दिलावर एवं वासुदेव देवनानी के संयुक्त तत्वाधान में एक जांच समिति गठित की थी। उस समिति ने कोटा जाकर परिजनों, पुलिस थाने और अन्य लोगों से जानकारी लेकर अपनी जांच रिपोर्ट पेश की है। उन्होंने यह भी कहा कि कमेटी की रिपोर्ट पर तुरन्त अमल की जाए अन्यथा इस मुद्दे को जनता के बीच लाकर आन्दोलन किया जायेगा। विधायक दिलावर व देवनानी ने बताया कि परिवार की वित्तीय स्थिति को देखते हुए वहां संगठन की ओर से एक लाख रूपए की आर्थिक सहायता देने की भी घोषणा की गई है।

National Hindi Khabar, 31 August 2019 LIVE News Updates: देश-दुनिया की तमाम खबरों के लिए क्लिक करें

पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज होः पुलिस महानिदेशक को दिए ज्ञापन में मांग की गई है कि संबंधित पुलिसकर्मियों के खिलाफ धारा 302 के अन्तर्गत हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए। मामले की जांच जिले के बाहर के किसी प्रशासनिक अधिकारी कम से कम संभाग आयुक्त के स्तर से कराई जाए।

विपक्ष ने सरकार पर निशाना साधाः वहीं विधानसभा में प्रतिपक्ष के उपनेता राजेंद्र राठौड़ ने नागौर प्रकरण को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि जब से प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनी है उसने जनता के साथ अन्याय के अलावा कुछ नहीं किया है। राठौड़ ने एक बयान में कहा है कि कांग्रेस सरकार ने नागौर जिले के ताऊसर गांव से बंजारा समाज को बेदखल कर अपनी खुद की बेदखली का इंतजाम कर लिया है। प्रसाशन ने निर्दोष लोगों के खलिाफ मुकदमे दर्ज करवा दिए है और यह सब अन्याय की हद है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पैर पर प्लास्टर नहीं लगवा रही थी बच्ची, डॉक्टर्स ने निकाला तरीका, उसकी डॉल को भी बना दिया मरीज
2 ममता बनर्जी ने एनआरसी की अंतिम सूची को बताया विफल, भाजपा पर लगाया राजनीतिक लाभ हासिल करने का आरोप
जस्‍ट नाउ
X