ताज़ा खबर
 

दलित बस्ती पर बोला था धावा, की थी आगजनी, सीएम योगी बोले- लगाओ गैंगस्टर एक्ट और रासुका

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, दोषियों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट तथा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून :रासुका: के तहत कार्रवाई की जाए । इस प्रकरण में स्थानीय एसएचओ द्वारा बरती गई लापरवाही पर गम्भीर रूख अपनाते हुए उन्होंने एसएचओ के विरुद्ध तत्काल विभागीय कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए हैं।

Author Updated: June 11, 2020 3:43 PM
yogi adityanathउत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ। (एक्सप्रेस फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जौनपुर जिले के भदेठी गांव में दलित बस्ती पर धावा बोलकर आगजनी और मारपीट किये जाने की घटना को गंभीरता से लेते हुए दोषियों पर गैंगस्टर एक्ट और रासुका लगाने के बृहस्पतिवार को निर्देश दिये। राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी ने ग्राम भदेठी, जनपद जौनपुर की घटना का संज्ञान लेते हुए इस घटना के अभियुक्तों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा है कि दोषियों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट तथा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून :रासुका: के तहत कार्रवाई की जाए । इस प्रकरण में स्थानीय एसएचओ द्वारा बरती गई लापरवाही पर गम्भीर रूख अपनाते हुए उन्होंने एसएचओ के विरुद्ध तत्काल विभागीय कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए हैं।

प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों के नुकसान की भरपाई के लिए मुख्यमंत्री पीड़ित सहायता कोष से 10, 26, 450 रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा की है। उन्होंने पीड़ित परिवारों को समाज कल्याण विभाग द्वारा अनुमन्य एक लाख रुपए की सहायता राशि उपलब्ध कराने की कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस घटना के सात पीड़ित परिवारों को मुख्यमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत आवास उपलब्ध कराया जाए। उल्लेखनीय है कि मंगलवार की शाम जौनपुर के सरायख्वाजा थानाक्षेत्र के भदेठी गाँव में दो गुटों में जमकर संघर्ष हुआ था। उसी रात एक गुट के लगभग सैकड़ों लोगों ने दलित बस्ती पर धावा बोलकर आगजनी, तोड़फोड़ और मारपीट की थी । दलित समुदाय के एक दर्जन मड़हे फूंक दिए गए । आग से कई मवेशी भी जल गए, जिनमें तीन बकरियों और एक भैंस की मौत हो गई।

घटना से आसपास के गाँवों में तनावपूर्ण माहौल हो गया। घटना की सूचना पाकर देर रात जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुँचे । इन अधिकारियों ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात कर घटना की जानकारी ली । इन अधिकारियों ने दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही का आश्वासन दिया । घटना की रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस को आरोपियों को पकड़ने का निर्देश भी दिया।

बुधवार की सुबह वाराणसी मंडल के आयुक्त दीपक अग्रवाल और वाराणसी जोन के पुलिस महानिरीक्षक विजय सिंह मीणा ने भदेठी गांव का दौरा कर पीड़ितों से बातचीत की। आयुक्त ने आगजनी से हुए नुकसान का आकलन करने और मुआवजा दिलाने के लिए जिलाधिकारी को निर्देश दिया। आईजी ने पुलिस अधीक्षक को घटना में शामिल लोगों को तत्काल गिरफ्तार करने और रासुका लगाने का निर्देश दिया।

पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने बताया कि घटना में शामिल मुख्य रूप से सपा नेता मोहम्मद जावेद सिद्दीकी प्रधानपति आफताब उर्फ हिटलर और नूर आलम सहित 35 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है । घटना के सिलसिले में 57 लोगों को नामजद और 27 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

कुमार ने बताया कि गाँव में शान्ति व्यवस्था कायम करने के लिए भारी मात्रा में पुलिस बल और पीएसी तैनात कर दी गई है ।
जिलाधिकारी दिनेश सिंह ने बताया कि जिन लोगों के मकान जलाए गए हैं, उनकी सुरक्षा, रहने और खाने पीने का प्रबंध प्रशासन ने कर दिया है । उनको आर्थिक सहायता प्रदान करने के मुख्यमंत्री के निर्देश का अनुपालन किया जा रहा है।

उधर भदेठी गांव में इस संघर्ष के बाद तनाव व्याप्त है । खौफजदा लोग गाँव से पलायन कर रहे हैं। अब तक सैकड़ों पुरूष, महिलाएं और बच्चे गाँव छोड़कर भाग गए हैं । भदेठी गांव प्रदेश के राज्यमंत्री गिरीश चन्द्र यादव के विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र जौनपुर सदर में पड़ता है। उन्होंने सम्पूर्ण घटनाक्रम की जानकारी मुख्यमंत्री को दी है, जिस पर मुख्यमंत्री ने उच्चाधिकारियों से रिपोर्ट तलब करते हुए घटना पर आवश्यक कार्रवाई करने और पीड़ितों को राहत प्रदान करने का निर्देश दिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘पापियों का विनाश तो पुण्य का काम है, धर्म तो यही कहता है’, ऑडियो क्लिप वायरल होने के बाद बोले शिवराज सिंह चौहान
2 दिल्ली में कोरोना से हालात और होंगे बदतर, लागू हो लॉकडाउन, हाईकोर्ट में दाखिल हुई PIL
3 कोरोना: अगले महीने मुंबई को पीछे छोड़ सकती है दिल्ली, एक्सपर्ट कमेटी ने दिल्ली सरकार को चेताया