ताज़ा खबर
 

प्यार की सजा मौत: ऊंची जाति की लड़की के पिता ने दलित लड़के को पीट-पीट कर मार डाला

पुलिस के अनुसार, 10 मार्च की रात को लड़की के चाचा ने उससे कहा कि वह विजय से मिलना चाहते हैं। इसके बाद लड़की ने विजय को कॉल करके अपने घर पर बुलाया। रात 11 बजे के बाद विजय लड़की के घर पहुंचा। इसके बाद घरवाले विजय को छत पर ले गए। छत पर जाकर लड़की के पिता ने विजय को गाली देकर पीटना शुरू कर दिया।

Author March 15, 2018 11:59 AM
घटना कदापा जिले के खाजीपेट मंडल के बुड्डायापल्ली गांव की है। जहां वाई. विजय कुमार, 19 साल, नाम का खाजीपेट के साहित्य डिग्री कॉलेज में प्रथम वर्ष का छात्र था।(file photo)

श्रीनिवास जनयाला

हैदराबाद के कदापा जिले में एक दलित युवक की ऊंची जाति के लोगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। दलित युवक का कसूर ये था कि वह ऊंची जाति की एक लड़की से प्यार करता था। इसी वजह से लड़की के घरवालों ने युवक की बेरहमी से हत्या कर दी। घटना 10-11 मार्च की मध्य रात्रि की है। फिलहाल, पुलिस ने लड़की के पिता और चाचा को गिरफ्तार कर लिया है।

घटना कदापा जिले के खाजीपेट मंडल के बुड्डायापल्ली गांव की है। 19 साल का वाई. विजय कुमार खाजीपेट के साहित्य डिग्री कॉलेज में प्रथम वर्ष का छात्र था। विजय के पिता का हाल ही में देहांत हो गया था और उसकी मां एक कृषक मजदूर हैं। विजय जाति से दलित था और गांव की ही एक ऊंची जाति की लड़की के साथ पिछले 2 सालों से रिलेशनशिप में था। लड़की एक जमींदार परिवार से ताल्लुक रखती थी। शुरुआत में लड़की के परिजनों को जब रिश्ते के बारे में पता चला तो उन्होंने लड़की को स्कूल जाने से रोक दिया। इसके बाद लड़की के परिजनों ने दोनों को समझाने की कोशिश भी की, लेकिन दोनों नहीं माने। इसी बीच, लड़की विजय को एक पत्र लिख रही थी, जिसे घरवालों ने देख लिया। इसके बाद घरवालों को लड़की के पास से एक मोबाइल फोन भी मिला, जिसमें दोनों के मैसेज थे और कॉल रिकॉर्ड थी। आखिरकार, जब लड़की के घरवाले दोनों को समझाने में नाकाम रहे तो उन्होंने लड़के को रास्ते से हटाने की साजिश रच डाली।

पुलिस के अनुसार, 10 मार्च की रात को लड़की के चाचा ने लड़की से कहा कि वे विजय से मिलना चाहते हैं। इसके बाद लड़की ने विजय को कॉल करके अपने घर बुलाया। रात 11 बजे के बाद विजय लड़की के घर पहुंचा। इसके बाद घरवाले विजय को छत पर ले गए। छत पर ले जाकर लड़की के पिता ने विजय को गाली देकर पीटना शुरू कर दिया। इस पर विजय ने कहा कि वह लड़की से प्यार करता है और उससे शादी करना चाहता है। इसी बीच, लड़की के पिता ने विजय के सिर पर किसी भारी चीज से प्रहार किया। जब लड़की ने इसका विरोध किया तो उसे  कमरे में बंद कर दिया।

जब पिटाई से विजय की मौत हो गई तो लड़की के पिता और चाचा ने उसकी बॉडी को गंगीरेड्डीपल्ली रेलवे स्टेशन के नजदीक रेलवे पटरी पर फेंक दिया, जिससे यह आत्महत्या का मामला लगे। रेलवे पुलिस ने इसे आत्महत्या का मामला मान भी लिया था, लेकिन जब लड़के की मां ने बॉडी की पहचान कर ली तो उसके बाद खाजीपेट पुलिस ने मामले की गहराई से जांच की। इसके बाद पुलिस को विजय और उस युवती के बीच प्रेम संबंधों का पता चला। पुलिस ने जब लड़की के घरवालों से पूछताछ की तो दलित युवक की हत्या की बात का खुलासा हुआ। फिलहाल, पुलिस ने लड़की के पिता महेश रेड्डी और चाचा सम्बाशिवा रेड्डी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App