ताज़ा खबर
 

दादरी हत्याकांड: अखलाक के परिवार के खिलाफ गांववाले पहुंचे कोर्ट, एफआईआर दर्ज करने की मांग

मथुरा की एक फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट में सामने आया था कि मृतक मोहम्मद अखलाक के घर मिला मांस गाय या गोवंश के किसी पशु का ही था।

Author ग्रेटर नोएडा | June 9, 2016 17:46 pm
गोमांस खाने की अफवाह फैलने के बाद आक्रोशित भीड़ के हमले में मोहम्मद अखलाक की मौत हो गई थी। (फाइल फोटो)

बिसाहड़ा गांव के एक समूह ने गुरुवार (9 जून) को अदालत में जाकर नौ महीने पहले मारे गए मोहम्मद अखलाक के परिवार के सदस्यों के खिलाफ कथित गौकशी के मामले में प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की। अखलाक के घर में गोमांस होने के संदेह पर उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। एक वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी ने बताया, ‘बिसाहड़ा के निवासियों ने आज गौतमबुद्ध नगर के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट को सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत आवेदन दिया और पुलिस को अखलाक के परिवार के सदस्यों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश देने का अनुरोध किया।’

धारा 156 (3) किसी मजिस्ट्रेट को उन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने और फिर जांच करने का आदेश पुलिस को देने का अधिकार देती है जिनके नाम शिकायत में हैं। उन्होंने कहा कि अदालत 13 जून को मामले में सुनवाई करेगी। अधिकारी के अनुसार, ‘अखलाक के परिवार के सदस्यों को उनका जवाब देने का अवसर दिया जाएगा और उसके बाद अदालत फैसला करेगी कि पुलिस को प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश देने की जरूरत है या नहीं।’

पिछले सप्ताह बिसाहड़ा में एक महापंचायत में ग्रामीणों ने पुलिस को अखलाक के परिवार के सदस्यों के खिलाफ 20 दिन के अंदर प्राथमिकी दर्ज करने का अल्टीमेटम दिया था। इससे पहले मथुरा की एक फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट में सामने आया था कि मृतक के घर मिला मांस गाय या गोवंश के किसी पशु का ही था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App