ताज़ा खबर
 

कोरोना का कहर: राजस्‍थान में छह से छह तक कर्फ्यू, हर‍िद्वार में चलता रहेगा कुंभ

आदेश के मुताबिक, 16 अप्रैल से 30 अप्रैल तक सभी शहरों में हर दिन 12 घंटे के लिए कर्फ्यू लगाया जाएगा।

Rajasthan, Uttarakhand, Covid-19कोविड-संक्रमित रोगियों के रिश्तेदार बुधवार को मेडिकल स्टोर में रेमेडिसविर खरीदने के लिए कतार में खड़े हैं। (फोटो: पवन खेंगरे- इंडियन एक्सप्रेस)

देश में कोरोना का कहर जिस तरह बढ़ रहा है, उससे लोगों की दिक्कतें बढ़ती जा रही हैं। इनको देखते हुए राजस्थान सरकार ने सभी शहरों में शाम छह से सुबह छह बजे तक के लिए कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है। आदेश के मुताबिक, 16 अप्रैल से 30 अप्रैल तक सभी शहरों में हर दिन 12 घंटे के लिए कर्फ्यू लगाया जाएगा। उधर, हरिद्वार में कुंभ मेला अपने निर्धारित समय तक चलता रहेगा।

राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। बुधवार को 6200 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं और 29 लोगों की मौत हुई है। राजस्थान में कोरोना के अब तक 3,81,292 केस की पुष्टि हुई है और 3,008 मरीजों की मौत हुई है। अब तक 3,33,379 मरीज ठीक हुए हैं। इस बीच सरकार ने बोर्ड परीक्षा भी स्थगित कर दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए राज्य सरकार ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर द्वारा आयोजित की जाने वाली 10वीं एवं 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी है।

उधर, उत्तराखंड के हरिद्वार में कुंभ मेला 30 अप्रैल तक जारी रहेगा। कोविड संक्रमण बढ़ने के चलते इसे जल्दी बंद करने पर कोई चर्चा नहीं की गई है। अधिकारियों ने आज इस बात की जानकारी दी। अधिकारियों ने इस आयोजन को दो हफ्ते पहले खत्म किए जाने की बात से इनकार किया।

हरिद्वार के जिलाधिकारी और कुंभ मेला अधिकारी दीपक रावत ने कहा,”आमतौर पर कुंभ मेला जनवरी में शुरू होता था, लेकिन कोविड के चलते राज्य सरकार ने इसे इस बार अप्रैल में शुरू करने का फैसला किया। केंद्र की गाइडलाइन के मुताबिक मेले की अवधि कम की जा सकती है लेकिन ऐसा किए जाने की मुझे कोई जानकारी नहीं है। ” इससे पहले उत्तराखंड सरकार और धर्मगुरुओं के बीच ऐसा किए जाने को लेकर चर्चा की खबरें थीं। जो अब तक इस आयोजन को रद्द करने को लेकर असहमत रहे हैं। लेकिन अधिकारियों ने कहा कि आज शाम कोई चर्चा नहीं हुई और कुंभ मेला जारी रहेगा।

देश में एक बार फिर से तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच मेले में हजारों की संख्या में भक्तों की भीड़ ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है। आज सुबह, तीसरे प्रमुख स्नान के दिन मुख्य घाट, हर की पौड़ी पर “शाही स्नान” के लिए बड़ी संख्या में साधु और भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। राज्य सरकार ने कहा कि दोपहर 2 बजे तक, 9,43,452 श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाई।

Next Stories
1 चिल्लाती रही युवती, पिता ने अस्पताल में तोड़ा दम, अब स्वास्थ्य मंत्री बोले- मैं माफी मांगूंगा
2 बारिश नहीं हुई तो भगवान पर आया गुस्सा, मंदिर में जाकर ले लिया ‘बदला’
3 कहां हुआ था हनुमान का जन्म? दो राज्यों में विवाद, ISRO के वैज्ञानिक भी देंगे रिपोर्ट
यह पढ़ा क्या?
X