ताज़ा खबर
 

बिहारः मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा- शराबबंदी से घट रहे हैं अपराध

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विपक्ष के प्रदेश में जंगलराज के आरोप को खारिज करते हुए राज्य में अपराध दर में कमी आने का दावा किया है।

Author पटना | May 29, 2016 12:51 AM
बिहार सरकार के मंत्रियों ने अपनी संपत्ति का सार्व​जनिक ब्यौरा दिया है। (फाइल फोटो)

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विपक्ष के प्रदेश में जंगलराज के आरोप को खारिज करते हुए राज्य में अपराध दर में कमी आने का दावा किया है। वहीं उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि देश को नशामुक्त भारत के साथ-साथ 2019 तक ‘संघमुक्त’ भी बनाना होगा।
मुजफ्फरपुर स्थित न्यू पुलिस लाइन मैदान में जीविका समूह की महिलाओं की ओर से शनिवार को आयोजित मद्य निषेध कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नीतीश ने कहा कि प्रदेश में शराबबंदी से विभिन्न प्रकार के अपराधों में अत्यधिक कमी आई है। उन्होंने कहा कि कुल संज्ञेय अपराधों में 24 फीसद की कमी आई है। हत्या की घटना में 39 फीसद, बलात्कार की घटनाओं में 30 फीसद, लूट की घटनाओं में 25 फीसद, भीषण दंगा की घटनाओं में 64 फीसद की कमी आई है। सड़क दुर्घटना, महिला उत्पीड़न, अपहरण, अनुसूचित जाति-जनजाति के अत्याचार में अत्यधिक गिरावट आई है।

नीतीश ने विपक्ष पर प्रहार करते हुए कहा कि कुछ लोगों को यह नागवार गुजर रहा है। वे लोग कहते हैं कि बिहार में जंगल राज है। उन्होंने कहा कि यह सही है कि विगत दिनों में कुछ निंदनीय अपराध हुए हैं। लेकिन उन सबमें निष्पक्ष और त्वरित कार्रवाई हुई है। कोई बता दे कि इतनी त्वरित और शीघ्र कार्रवाई किस घटना में हुई है। नीतीश ने कहा कि न्याय के साथ विकास हमारा लक्ष्य है, हम न्याय के साथ बिहार के विकास में आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि ताड़ के पेड़ से सूर्योदय के पहले निकला हुआ रस ‘नीरा’ कहलाता है। नीरा स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। बिना नशा वाला नीरा का उत्पादन तमिलनाडु में 25 सालों से किया जा रहा है। ताड़ के पत्तों से चटाई बनती है। ताड़ के फल से तरह-तरह के उत्पाद बनते हैं।

नीतीश ने कहा कि विकास आयुक्त की अध्यक्षता में एक समिति बनाई गई है जो इस विषय पर काम कर रही है कि इस व्यवसाय से जुड़े लोगों की आमदनी कैसे बढाई जाए। लबनी में चूने का लेप लगाकर उसमें सूर्योदय के पहले ताड़ का रस उतारा जाए वह नीरा होता है। उसमें नशा नहीं होता है। उन्होंने कहा कि सूर्योदय के बाद ताड़ का रस उतारने पर ताड़ी बनता है। ‘नीरा’ से बढ़िया गुड बनता है। अगली बार हम बिहार को ताड़ी से भी मुक्त कर देंगे। जीविका की दीदीयों को इस उत्पाद से जोड़ा जाएगा। नीरा का उत्पादन समूह बनेगा। अभी एक ताड़ से जितनी आमदनी होती है उससे 5 गुण ज्यादा आमदनी होगी।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा कि जीविका के लोगों ने जिस प्रकार का कार्य किया वह बेहद सराहनीय है। शराबबंदी को लेकर लोग दिल से मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हैं। महागठबंधन की सरकार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में शराबबंदी का ऐतिहासिक काम किया है। उन्होंने कहा कि पुलिस प्रशासन और सभी नागरिकों के सहयोग से शराबबंदी सफल होगा। बिहार को अव्वल राज्य बनाने के लिए संघर्ष करना है। हमारे सरकार के कार्यों की चर्चा देश ही नहीं विदेश में भी होती है। तेजस्वी ने कहा, ‘पूरे देश को नशामुक्त बनाना होगा। नशामुक्त भारत के साथ-साथ 2019 तक भारत को ‘संघमुक्त’ बनाना होगा। लोगों को सही विकल्प चुनना होगा।’ उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा, ‘आज बिहार को बदनाम करने वाले विकास पर्व बना रहे हैं। ऐसे लोगों ने एक ही रट लगा रखी है कि बिहार में राष्ट्रपति शासन लागू हो। अगर किसी में दम है तो बिहार में राष्ट्रपति शासन लागू करके दिखा दे। यहां गरीबों का राज्य है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App