ताज़ा खबर
 

UP में ‘Operation Durachari’: महिलाओं से की छेड़खानी, तो पोस्टर छपवा सार्वजनिक स्थानों पर लगवाएगी योगी सरकार

महिलाओं और लड़कियों में सुरक्षा की भावना पैदा करने के लिये उत्तर प्रदेश सरकार उनके साथ छेड़खानी, यौन उत्पीड़न तथा ऐसे ही अन्य अपराधों में शामिल लोगों के पोस्टर सार्वजनिक स्थानों पर लगवा ऐसे अपराधियों को बेइज्जत करेगी।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: September 25, 2020 8:15 AM
योगी आदित्यनाथ सरकार, यूपी में महिला अपराध, अपराधियों के पोस्टर, yogi in action, yogi adityanath sarkar, Yogi Adityanath, uttar pradesh police, UP news, poster order of yogi, crime against woman in upसीएम योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं के खिलाफ अपराध करने वालों के पोस्टर राज्य के प्रमुख चौराहों पर लगवाने के निर्देश दिये हैं। (file)

उत्तर प्रदेश में महिलाओं से जुड़े अपराध के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। इसको ध्यान में रखते हुए योगी सरकार ने नया फरमान जारी किया है। महिलाओं और लड़कियों में सुरक्षा की भावना पैदा करने के लिये उत्तर प्रदेश सरकार उनके साथ छेड़खानी, यौन उत्पीड़न तथा ऐसे ही अन्य अपराधों में शामिल लोगों के पोस्टर सार्वजनिक स्थानों पर लगवा ऐसे अपराधियों को बेइज्जत करेगी।

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बृहस्पतिवार को बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं के खिलाफ अपराध करने वालों की तस्वीरों वाले पोस्टर राज्य के प्रमुख चौराहों पर लगवाने के निर्देश दिये हैं। साथ ही उन्होंने ऐसे अपराधियों को महिला पुलिसकर्मियों के हाथों सजा दिलवाने के भी निर्देश दिये हैं। उन्होंने बताया कि इस कदम का मकसद मनचलों तथा महिलाओं का यौन उत्पीड़न करने वाले लोगों के जहन में कानून का डर बैठाना है।

प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने यह भी कहा है कि अगर किसी इलाके में किसी महिला के प्रति अपराध होता है तो सम्बन्धित पुलिस क्षेत्राधिकारी, थानाध्यक्ष, चौकी प्रभारी और बीट प्रभारी जिम्मेदार होंगे। उन्होंने बताया कि लड़कियों और महिलाओं में सुरक्षा और विश्वास की भावना भरने के लिये राज्य के सभी जिलों में गठित ‘एंटी रोमियो दलों’ को और सक्रिय किया गया है।

गौरतलब है कि राज्य सरकार ने दिसम्बर, 2019 में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ राजधानी लखनऊ में हुए हिंसक प्रदर्शनों के दौरान सार्वजनिक सम्पत्तियों को नुकसान पहुंचाने के आरोपियों के फोटो लगे पोस्टर शहर के प्रमुख चौराहों पर लगवाये थे। इसे लेकर खासा विवाद हुआ था।

इस बीच, आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने बृहस्पतिवार को गृह एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय बैठक के दौरान एण्टी रोमियो दल द्वारा की जा रही कार्यवाही की समीक्षा की। उन्होंने बताया कि प्रदेश में प्रयागराज, आगरा, बरेली, कानपुर, लखनऊ, मेरठ, वाराणसी तथा गोरखपुर मण्डल एवं लखनऊ तथा गौतमबुद्धनगर के पुलिस आयुक्तों द्वारा इस दिशा में किये गये प्रयासों की मण्डलवार समीक्षा की गयी।

बैठक में यह भी बताया गया कि प्रदेश भर में स्कूलों, कॉलेजों, बाजारों, चौराहों, मॉल, पार्क जैसे सार्वजनिक स्थलों पर अब तक 83 लाख से अधिक व्यक्तियों की गतिविधियों पर नजर रखकर उनमें 7,351 के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। 35 लाख से अधिक लोगों को चेतावनी देकर छोड़ा गया।

(भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना में दुर्गा पूजा: समिति को 50-50 हज़ार रुपए देगी ममता सरकार, दिशानिर्देश भी दिए
2 बिहार चुनाव: बीजेपी सांसद को सुननी पड़ी खरी-खरी, पहले कांग्रेस और अब भाजपा नेताओं की गुटबाजी का शिकार हो रहा भागलपुर
3 Delhi Riots: दंगों के आरोपी खालिद सैफी ने लिया सलमान खुर्शीद का नाम, प्रशांत भूषण और कविता कृष्णन पर भी भड़काऊ भाषण देने का आरोप
IPL 2020 LIVE
X