ताज़ा खबर
 

अगले हफ्ते कश्मीर घाटी में तैनात होंगे धोनी, सैनिकों की तरह पेट्रोंलिंग, गार्ड और पोस्ट पर देंगे ड्यूटी

धोनी को 2011 में सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक दी गई थी । सेना के अधिकारियों ने बताया कि विश्व कप विजेता टीम के कप्तान रहे धोनी 106 प्रादेशिक सेना बटालियन (पैरा) के साथ 31 जुलाई से 15 अगस्त तक रहेंगे।

Author July 25, 2019 11:23 PM
अगले हफ्ते कश्मीर घाटी में तैनात होंगे धोनी।

पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी जम्मू कश्मीर में सेना की अपनी बटालियन के साथ इस महीने के आखिर में जुड़ेंगे और इस दौरान अन्य सैनिकों की तरह पेट्रोंलिंग, गार्ड और पोस्ट पर तैनाती देंगे। धोनी को 2011 में सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक दी गई थी । सेना के अधिकारियों ने बताया कि विश्व कप विजेता टीम के कप्तान रहे धोनी 106 प्रादेशिक सेना बटालियन (पैरा) के साथ 31 जुलाई से 15 अगस्त तक रहेंगे। सेना की यह इकाई ‘विक्टर फोर्स’ के हिस्से के रूप में अभी कश्मीर घाटी में तैनात है।

अधिकारी ने बताया कि इस दौरान सैनिकों के साथ ही रहेंगे तथा पैट्रोंलिंग, गार्ड और पोस्ट पर तैनाती देंगे। यह 38 वर्षीय क्रिकेटर बटालियन में रहते हुए अन्य सैनिकों की तरह तमाम जिम्मेदारियों का निर्वहन करेंगे। वेस्टइंडीज दौरे पर धोनी भारतीय टीम का हिस्सा नहीं है। उन्होंने सेना को सूचित किया था कि वह अपनी बटालियन को सेवायें देना चाहते हैं जो इस समय कश्मीर घाटी में तैनात है ।

एक सीनियर अधिकारी ने कहा,‘‘ अधिकारी ने इसका अनुरोध किया था और सेना मुख्यालय ने मंजूरी दे दी । वह सेना के साथ रहते हुए पेट्रोलिंग, गार्ड और पोस्ट ड्यूटी करेंगे ।’’ बता दें साल 2011 में एमएस धोनी को इंडियन टेरिटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल का रैंक दिया गया था। धोनी का आर्मी प्रेम जगजाहिर है। महेंद्र सिंह धोनी ने टीम इंडिया को क्रिकेट के हर फार्मेट में बुलंदियों तक पहुंचाया। धोनी ने एक इंटरव्‍यू में कहा था कि वह बचपन से ही फौजी बनना चाहते थे। वो रांची के कैंट एरिया में अक्सर घूमने चले जाते थे, लेकिन किस्मत को कुछ और मंजूर था। यही वजह रही कि वो फौज के अफसर नहीं बन पाए और क्रिकेटर बन गए।

Next Stories
1 नीतीश ने ऐसे दिया पर्यावरण संरक्षण का संदेश, नई इलेक्ट्रिक कार से पहुंचे असेंबली
2 कर्नाटक: गठबंधन सरकार गिराने के लिए बागी विधायकों को उकसाने वाली खबरों से सिद्धरमैया का इनकार
3 8 दिनों में 12 लाख कांवड़ियों ने किया जलाभिषेक, रोजाना सुबह पौने चार बजे खुलता है बाबा बैद्यनाथ मंदिर
यह पढ़ा क्या?
X