ताज़ा खबर
 

बिहार में संक्रमितों की रफ्तार तेज, एक हफ्ते में 6328 नए मामले सामने आए, 43 मौत

बिहार के स्वास्थ्य महकमा के मुताबिक 143 मौतें 14 जुलाई तक दर्ज की गई है। जब कि 7 जुलाई तक मौतों का आंकड़ा एक सौ था। जबकि 30 जून तक 63 मौतें ही हुई थी। बीते दो रोज में दो डाक्टरों की भी संक्रमण से मौतें हुई है।

COVID-19, Coronavirusदेश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है।

इस बात से बिहार के लोग खुश हो सकते है कि कोरोना संक्रमण के मरीजों के स्वस्थ होने का प्रतिशत 69.06 है। मगर फिक्र की बात यह है कि जहां एक से सात जुलाई के दौरान ढाई हजार से ज्यादा संक्रमित बढ़े थे , वहां इस बीते हफ्ते (7-14 जुलाई) में छह हजार तीन सौ से ज्यादा मरीजों का इजाफा हुआ है। वहीं मौतों में भी बढ़ोतरी हुई है। इस महीने के पहले एक हफ्ते में 37 मौतें हुई थी। जो दूसरे हफ्ते में 43 मौतें हुई है। मसलन संक्रमितों की रफ्तार तेज है।

बिहार के स्वास्थ्य महकमा के मुताबिक 143 मौतें 14 जुलाई तक दर्ज की गई है। जब कि 7 जुलाई तक मौतों का आंकड़ा एक सौ था। जबकि 30 जून तक 63 मौतें ही हुई थी। बीते दो रोज में दो डाक्टरों की भी संक्रमण से मौतें हुई है। इनमें पटना मेडिकल कालेज अस्पताल के कान,नाक गले (ईएनटी) के पूर्व विभागाध्यक्ष डा.एनके सिंह (67) और गया के निजी चिकित्सक अश्विनी कुमार है। एक दर्जन से ज्यादा डाक्टर संक्रमित हो इलाजरत है।

भारतीय चिकित्सा एसोसिएशन (आईएमए) बिहार के सचिव डा. सुनील कुमार बताते है कि डेढ़ सौ से ज्यादा डाक्टर और काफी संख्या में स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित मरीजों के इलाज के दौरान चपेट में है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि समय से उनकी जांच सुनिश्चित करें। साथ ही पटना एम्स में डाक्टरों के इलाज के वास्ते बिस्तर आरक्षित किए जाएं।

यह सच है कि भागलपुर जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कालेज अस्पताल के अधीक्षक , और एक महिला डाक्टर समेत चार वरीय चिकित्सक संक्रमित हो इलाजरत है। मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा.हेमंत कुमार सिंहा ने इसकी पुष्टि की है। कई स्वास्थ्य कर्मी भी संक्रमित है।

भागलपुर ज़िला के ज़िलाधीश, सहायक ज़िलाधीश, डीडीसी, डीपीओ समेत कई अधिकारी व कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ चुके है।जिसे डीएम का प्रभार सौंपा जाता है। वही पृथकवास में चला जा रहा है। सरकारी दफ्तर बंद है। समाहरणालय में सन्नाटा पसरा है। नगर निगम दफ्तर के लोग भी पृथकवास में है। एसएसपी आशीष भारती की रिपोर्ट तो नकारात्मक आई है। मगर इनके मातहत पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों की रिपोर्ट सकारात्मक है।

भागलपुर राज्य में पटना के बाद अव्वल है। पटना में 2259 संक्रमित मरीजों का आंकड़ा है। भागलपुर में रोगियों की संख्या 1134 है। बेगूसराय 927 और मुजफ्फरपुर 841 है। मसलन बिहार में जहां 7 जुलाई को संक्रमितों का आंकड़ा 12525 था। वहीं 14 जुलाई को 18853 हो चुका है। जबकि 30 जून को यह संख्या 9988 थी। यानी जुलाई के दूसरे हफ्ते में 6328 मरीज बढ़े। जो कि 1 से 7 जुलाई के दौरान 2537 मरीज ही बढ़े थे।

बीते हफ्ते ठीक होने वाले रोगियों की संख्या 3681 है। कुल स्वस्थ हुए लोगों का आंकड़ा 13019 है। मसलन सक्रिय मरीजों की संख्या 5834 है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे का दावा है कि राज्य में रोजाना दस हजार से ज्यादा लोगों के नमूनों की जांच हो रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार चुनाव पर मीटिंग से गायब रहे तेजस्वी, राजद पर बरसे जीतन राम, कांग्रेस बोली- डिपार्चर लाउंज में हैं मांझी
ये पढ़ा क्या?
X