ताज़ा खबर
 

दिल्ली में बढ़ रहे रोज 1000 नए मरीज, बंद होटलों को क्वारंटीन सेंटर बनाएंगे, पर लंबा नहीं खींच सकते लॉकडाउन: केजरीवाल

दिल्ली के अस्पतालों के पास जो बड़े होटल हैं उन्हें अस्पताल का हिस्सा बना दिया जाएगा। अस्पताल के मरीज इन होटलों में रुकेंगे, डॉक्टर इन होटलों में जाएंगे और वहीं पर मरीजों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जाएगी।

CM kejriwalदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (ANI)

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। यहां रोजाना सैकड़ो की संख्या में पॉज़िटिव मामले सामने आ रहे हैं। इसको ध्यान में रखते हुए अब केजरीवाल सरकार ने रणनीति में बदलाव किया है। दिल्ली सरकार अब बंद होटलों को क्वारंटीन सेंटर में तब्दील करने जा रही है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली के अस्पतालों के पास जो बड़े होटल हैं उन्हें अस्पताल का हिस्सा बना दिया जाएगा। अस्पताल के मरीज इन होटलों में रुकेंगे, डॉक्टर इन होटलों में जाएंगे और वहीं पर मरीजों को चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जाएगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर स्वीकार किया कि दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों में वृद्धि देखी जा रही है, लेकिन उन्होंने कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है, मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम पूरी तरह से तैयार हैं। उन्होंने साथ ही कहा कि हम स्थायी रूप से लॉकडाउन नहीं कर सकते। केजरीवाल ने कहा “आज कोई ये नहीं कह सकता कि एक महीना या दो महीने और लॉकडाउन कर लो तो कोरोना ठीक हो जाएगा। कोरोना रहेगा, अगर कोरोना रहेगा तो कोरोना का इलाज करने का इंतजाम करना पड़ेगा। हमारी पूरी सरकार इस समय कोरोना के मरीज़ों का इलाज करने पर ध्यान दे रही है।”

Coronavirus Live update: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट….

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा “दिल्ली का मुख्यमंत्री होने के नाते मुझे दो चीजों पर चिंता होगी। अगर दिल्ली के अंदर कोरोना की वजह से मौत का आंकड़ा बढ़ने लगा तो। दूसरा मान लीजिए कि कोरोना के 10,000 मरीज़ हैं और हमारे पास 8,000 बेड हैं तो ये हमारे लिए चिंता का विषय है।” उन्होने कहा “आज दिल्ली में कोरोना वायरस के 17,386 मामले हैं, इनमें से 2,100 मरीज़ अस्पताल में हैं। बाकी सब घरों के अंदर है, वो घरों के अंदर इलाज करा रहे हैं। पिछले हफ्ते हमने ऑर्डर जारी कर दिए हैं 5 जून तक दिल्ली में 9,500 बेड तैयार हो जाएंगे।”

केजरीवाल ने आगे कहा “एक ऐप बन गई है अभी उसकी टेस्टिंग चल रही है। सोमवार को उसे लॉन्च करेंगे, उस ऐप में आपको हर एक अस्पताल का डाटा मिलेगा कि किस अस्पताल में कितने बेड और वेंटिलेटर हैं और कितने खाली हैं।”

दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। राजधानी में लगातार दो दिनों से सामने आने वाले मामलों ने चिंता बढ़ाई है। इस एक हफ्ते में पांच हजार से अधिक मामले सामने आए हैं। दिल्ली में अबतक 17386 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 398 लोगों की मौत हो चुकी है और 7846 संक्रमित ठीक हो चुके हैं। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक एक्टिव मामलों में से भी क़रीब 50 प्रतिशत लोगों को उनके घरों में ही क्वारैंटाइन किया गया है।

वहीं देश में पिछले चौबीस घंटे में कोविड-19 के रिकॉर्ड 7,964 केस दर्ज किए गए हैं और 265 लोगों की मौत हो गई है। शनिवार (30 मई, 2020) को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने बताया कि नए मामलों के साथ देश में अब संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,73,763 हो गई है। इस बीच एक अच्छी खबर ये भी है कि देश में 82,370 लोग ठीक हो चुके हैं। मंत्रालय के मुताबिक भारत में अभी 86,422 एक्टिव केस हैं और कुल 4971 लोगों की मौत हो चुकी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 चार दिन तक ‘श्रमिक स्पेशल’ में लावारिस पड़ा रहा प्रवासी मजदूर का शव, ट्रेन की सफाई हुई तो पता चला
2 दिल्ली में 5 दिन बाद कोरोना के 1 हजार से कम मामले आए, पर 50 की जान गई, अब मृतकों का आंकड़ा 500 के पार