ताज़ा खबर
 

कोरोना काल में महाराष्ट्र के अस्पताल बेहाल! पर इस जिले के गुरुद्वाओं ने COVID-19 सेटर बन संभाला हाल; अफसर भी कर रहे तारीफ

धिकारी जिस वक्त लेवल-1 कोविड केयर सेंटर (CCC) स्थापित करने के लिए उपयुक्त स्थान खोज रहे थे, तब गुरुद्वारों (लंगर साहिब और सचखंड श्री हजूर साहिब) ने तीर्थयात्रियों के लिए इस्तेमाल की जाने वाली तीन इमारतें मुहैया कराई।

covid-19नांदेड़ में कोरोना से ठीक हुए मरीज को फूल देकर विदा करता स्वास्थ्यकर्मी। (Express Photo by Srinath Rao)

Covid-19: महाराष्ट्र का नांदेड़ पिछले महीने की शुरुआत में तब खासा सुर्खियों में आया जब यहां पंजाब के 4218 तीर्थयात्रियों में से 1263 को कोरोना वायरस की पुष्टि हुई। आज अधिकारियों कहना है कि जिले में 22 अप्रैल को कोरोना का पहला केस सामने आने के बाद उनके पास चिकित्सा का बुनियादी ढांचा था मगर इन गुरुद्वारों की मदद के बिना वो महामारी से निपटने में सक्षम नहीं होते।

अधिकारी जिस वक्त लेवल-1 कोविड केयर सेंटर (CCC) स्थापित करने के लिए उपयुक्त स्थान खोज रहे थे, तब गुरुद्वारों (लंगर साहिब और सचखंड श्री हजूर साहिब) ने तीर्थयात्रियों के लिए इस्तेमाल की जाने वाली तीन इमारतें मुहैया कराई। नांदेड़ वाघला नगर निगम के चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर सुरेशसिंह बिसेन ने बताया कि जब निगम ने अनुरोध किया तो गुरुद्वारे के संचालकों ने चाबियां सौंप दीं। वहां कमरें बड़ें हैं, साफ हैं और उनमें एसी लगे हुए हैं। क्वारंटाइन सुविधाएं सबसे अच्छी और आरामदायक हैं, जो आपको कहीं देखने को मिलती है।

Lockdown 5.0/Unlock 1 LIVE Updates

बिसेन ने कहा कि हमने लंगर साहिब के 150 बिस्तरों वाले यात्री निवास में पॉजिटिव मरीजों को रखा है। गुरुद्वारे ने मरीजों के लिए भोजन तैयार करने का जिम्मा खुद उठाया और पीपीई किट में हमारे स्टाफ ने कमरों में भोजन पहुंचाया। उन्होंने कहा कि सचखंड गुरुद्वारे में एनआरआई यात्री निवास में संदिग्ध मरीजों को रखा जाता है। पास के पंजाब भवन में संक्रमित मरीजों को रखा जाता है। दोनों अलग-अलग कंपाउंड में हैं और दोनों को बेरिकेड लगाकर विभाजित किया गया है। इस बीच कोई संदिग्झ जिसे, कोरोना की पुष्टि हो जाती है उसे निवास से भवन में भेज दिया जाता है।

Weather Forecast Today, Cyclone Nisarga LIVE Updates

हालांकि गुरुद्वारे के अधिकारी उनके द्वारा किए जा रहे प्रयासों के बारे में बात करने के लिए उत्सुक नहीं हैं। मगर अधिकारियों का कहना है कि दो सप्ताह पहले तक उपलब्ध 500 बेड करीब-करीब फुल थे। वर्तमान में नौ मरीजों को पंजाब भवन में रखा गया है जबकि एनआरआई यात्री निवासी में उनके संपर्क में आए 100 अधिक जोखिम वाले में मरीजों को रखा गया है।

उल्लेखनीय है कि नांदेड़ में कुल 20 कोविड केयर सेंटर हैं, जिनमें 3040 बेड हैं। सात समर्पित कोविड स्वास्थ्य केंद्र है जिनमें 480 बेड हैं जो सामान्य लक्षण वाले कोरोना मरीजों के लिए हैं। इसके अतिरिक्त सात अन्य समर्पित कोविड हॉस्पिटल हैं, जिनमें 649 बेड हैं। 121 आईसीयू बेड हैं और 38 वेंटिलेटर हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बंद होंगे बिहार के सारे क्वारंटीन सेंटर, स्टेशनों पर थर्मल स्क्रीनिंग भी नहीं- नीतीश सरकार का फैसला
2 उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस 141 नए मामले, संक्रमित लोगों की संख्या 8,870 पहुंची