कोरोना को लेकर आने वाले सप्ताहों में दिखेगा चुनाव, दुर्गा पूजा, दिवाली का असर, केंद्र ने कहा-नए मामलों पर रखनी होगी नजर

दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को केन्द्र से बाजार क्षेत्रों में लॉकडाउन लगाने का अधिकार मांगा, जो कि कोविड-19 के ‘हॉटस्पॉट’ बन सकते हैं।

covid-19, corona in delhi, diwali, festive season, durga puja, news corona cases
केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग सचिव (बाएं) और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल। (फाइल फोटो)

देश में कोरोना के मामले में कमी के बीच केंद्र सरकार का कहना है कि चुनाव, दुर्गा पूजा, दिवाली का असर आने वाले सप्ताहों में देखने को मिल सकता है। केंद्र सरकार ने कहा कि हमें नये मामलों पर बहुत सावधानी से नजर रखनी होगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में अब तक कोविड-19 के लिए 12.65 करोड़ से अधिक नमूनों की जांच की जा चुकी है। वहीं, संक्रमण की दर कम होकर 7.01 प्रतिशत हुई है।

केंद्र का कहना है कि देश में कोविड-19 के कुल उपचाराधीन मरीजों में से 76.6 प्रतिशत रोगी महाराष्ट्र, दिल्ली, केरल और पश्चिम बंगाल समेत दस राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में हैं। पिछले सप्ताह रोजाना औसत 46,701 संक्रमित स्वस्थ हुए, वहीं इसी अवधि में संक्रमण के रोजाना 40,365 नये मामले सामने आए। राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामलों पर केंद्र ने कहा कि दिल्ली के अस्पतालों में आईसीयू के बिस्तरों की क्षमता अगले तीन-चार दिन में मौजूदा 3,523 से बढ़ाकर 6,000 की जाएगी।

दिल्ली में कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए उठाये जाने वाले कदमों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाना, जांच क्षमता दोगुनी करना और आरटी-पीसीआर तथा आरएटी जांचों का सही अनुपात रखना शामिल हैं। इससे पहले भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सामने आने वाले नए मामलों की संख्या चार महीने बाद 30,000 से नीचे रही।

इसके साथ ही भारत में संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 88.74 लाख हो गई, हालांकि इनमें से स्वस्थ हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 82,90,370 हो गई। आंकड़ों के अनुसार, देश में लगातार सातवें दिन उपचाराधीन संक्रमित लोगों की संख्या पांच लाख से नीचे रही। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के उपचाराधीन मामले 4,53,401 हैं जो कि संक्रमण के कुल मामलों का 5.11 प्रतिशत है।

इसके अलावा, स्वस्थ हो चुके लोगों की संख्या बढ़कर 82,90,370 हो गई है और लोगों के स्वस्थ होने की दर 93.42 प्रतिशत हो गई है, जबकि कोविड-19 के कारण मृत्युदर 1.47 प्रतिशत है। भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितम्बर को 40 लाख के पार चली गई थी। कुल मामले 16 सितम्बर को 50 लाख, 28 सितम्बर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख और 29 अक्टूबर को 80 लाख के पार चले गए थे।

केजरीवाल सरकार ने केंद्र से मांगी लॉकडाउन लगाने की अनुमतिः दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को केन्द्र से बाजार क्षेत्रों में लॉकडाउन लगाने का अधिकार मांगा, जो कि कोविड-19 के ‘हॉटस्पॉट’ बन सकते हैं। उन्होंने इसके साथ ही शादी समारोहों में 200 तक की संख्या में लोगों के शामिल होने की अनुमति को वापस लेने का भी अनुरोध किया है। केजरीवाल ने मीडिया को ऑनलाइन संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार ने उपराज्यपाल को शादी समारोहों में 200 की बजाय अब केवल 50 तक की ही संख्या में लोगों को शामिल होने देने के संबंध में एक प्रस्ताव भेजा है।

कैट ने बाजार क्षेत्रों में लॉकडाउन के प्रस्ताव का विरोध कियाः व्यापारियों के संगठन कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के राष्ट्रीय राजधानी के बाजार क्षेत्रों लॉकडाउन के प्रस्ताव पर कड़ी आपत्ति जताई है। कैट ने कहा है कि यह ‘आत्मघाती’ कदम साबित होगा क्योंकि इससे लाखों लोगों की आजीविका संकट में पड़ जाएगी। कैट ने केंद्र से आग्रह किया है कि इस बारे में कोई भी निर्णय लेने से पहले व्यापारियों के साथ बातचीत की जाए।

अपडेट
X