ताज़ा खबर
 

बिहार में एक हफ्ते में संक्रमण के शिकार 619 लोगों का इजाफा, 707 का आंकड़ा पूरा होने में 50 दिन लगे थे

बिहार अपने घर दूसरे राज्यों से अब तक लौटे लोगों में सबसे ज्यादा संक्रमित दिल्ली से आए लोगों में पाया गया है। वहीं आंध्र, अरुणाचल, असम, दादर नगर हवेली, हिमाचल प्रदेश,जम्मू-कश्मीर,लक्ष्यद्वीप,मेघालय, नागालैंड, ओडिसा, सिक्किम, त्रिपुरा,उत्तराखंड आए मजदूरों में संक्रमण नहीं पाया गया है। यह स्वास्थ्य महकमा के आंकड़ों के विश्लेषण में सामना आया है। वहीं […]

दूसरे राज्यों से बिहार आए लोगों के राज्यवार स्वास्थ्य महकमा के आंकड़े ।

बिहार अपने घर दूसरे राज्यों से अब तक लौटे लोगों में सबसे ज्यादा संक्रमित दिल्ली से आए लोगों में पाया गया है। वहीं आंध्र, अरुणाचल, असम, दादर नगर हवेली, हिमाचल प्रदेश,जम्मू-कश्मीर,लक्ष्यद्वीप,मेघालय, नागालैंड, ओडिसा, सिक्किम, त्रिपुरा,उत्तराखंड आए मजदूरों में संक्रमण नहीं पाया गया है। यह स्वास्थ्य महकमा के आंकड़ों के विश्लेषण में सामना आया है। वहीं बिहार में एक हफ्ते में संक्रमण के शिकार 619 लोग हुए। जबकि 707 का आंकड़ा पूरा होने में 50 दिन लगे थे।

महकमा के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि इतवार तक बाहर से आए 11800 लोगों के नमूने जांच के वास्ते लिए गए है। जिनमें 8337 नमूनों की जांच की गई। इनमें 651 की रिपोर्ट सकारात्मक आई है। 7646 नमूने नकारात्मक पाए गए। 3463 की जांच होनी बाकी है।

उनके मुताबिक आंध्र प्रदेश समेत आठ राज्यों से बिहार कुल 172 आए लोगों के नमूने जांचे गए है। मगर वहां एक भी संक्रमण की चपेट में नहीं आया है। पर दिल्ली से आने वालों में से 1362 लोगों के नमूने लिए गए। 835 की जांच की गई। जिनमें 218 संक्रमित मिले है। पश्चिम बंगाल से आए में से 373 के नमूनों में से 265 की रिपोर्ट आई है। जिनमें 33 की रिपोर्ट सकारात्मक है। इसी तरह महाराष्ट्र से आने वालों के 2034 नमूनों में से 1283 की जांच की गई। इनमें 141 संक्रमित है।

हरियाणा से आए लोगों में से 630 संदिग्धों की जांच के लिए नमूने लिए गए। 390 की जांच में 36 सकारात्मक है। गुजरात से पहुंचे श्रमिकों में से 2609 के नमूने लिए गए। 2045 कि जांच में 139 कोरोना पीड़ित मिले है। छतीसगढ़, मध्यप्रदेश, चंडीगढ़, राजस्थान और उत्तरप्रदेश से आने वालों में 29 संक्रमित मिले है।

बिहार में खबर लिखे जाने तक 1326 लोग संक्रमित हुए है। जिनमें आठ की मौतें हुई है। 499 मरीज स्वस्थ हुए है। 819 इलाजरत है। इनमें 11 से 17 मई के बीच 619 लोग संक्रमण के शिकार मिले है। जिनमें 141 ठीक भी हुए है। दो की मौतें हुई है। राज्य में पटना 164 संक्रमितों की संख्या के साथ अव्वल है। मुंगेर 126 , रोहतास 91, मधुबनी 69, नालंदा 68, बक्सर 62, बेगूसराय 56, खगड़िया 55, सिवान 45, बांका 40, भागलपुर 38 है।

इस तरह कमोवेश सूबे के सभी 38 ज़िले कोरोना संक्रमण की चपेट में है। जमुई ज़िला अबतक बचा था। मगर दो रोज से वहां भी 14 मरीज सकारात्मक निकल आए है। स्वास्थ्य महकमा के आंकड़ों से यह भी जाहिर हुआ कि केवल सात दिनों में 619 सकारात्मक मरीज मिले है। एक हफ्ते में रफ्तार तेज पकड़ी है। जबकि बचे 707 मरीज का आंकड़ा पूरा होने में 22 मार्च से 10 मई यानि 50 दिन लगे। 619 जोड़ 707 कुल 1326 है।

इधर श्रमिकों को लेकर विशेष ट्रेनों के आने का सिलसिला जारी है। इसके अलावे लोग ट्रकों पर सवार हो बिहार के दूसरे हिस्सों में पहुंच रहे है। इतवार को मुंबई और जयपुर से ट्रकों में जानवरों की तरह ठूंसकर लदे सैकड़ों लोग भागलपुर के जगदीशपुर के नजदीक पहुंचे। इन सब की गिनती सरकार के पास नहीं है। ऐसे में संक्रमण पर काबू भगवान भरोसे है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 MP: ग्वालियर में पेंट की दुकान में ली आग, चार बच्चों सहित 7 की मौत
2 महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ली MLC की शपथ, 9 लोग चुने गए निर्विरोध
3 Lockdown 4.0 Update: कर्नाटक में महाराष्ट्र समेत 4 राज्यवासियों की एंट्री 31 मई तक बैन, CM ने दी दुकानें खोलने की छूट, बस भी चलेंगी
यह पढ़ा क्या?
X