ताज़ा खबर
 

दिल्ली के श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार के लिए नहीं मिल रही जगह? वीडियो में हाथ जोड़ मिन्नते कर रहे दिखे लोग; SGPC के मनजिंदर ने केजरीवाल को घेरा

सिरसा ने दावा किया है कि कोरोना से होने वाली मौतों की वजह से दिल्ली के शमशान घाट में हालात बेहद खराब हैं। यह वीडियो दिल्ली के पुंजाबी बाग का बताया जा रहा है।

Corona death in Delhi, Delhi graveyard, Graveyard, Delhi Corona death, Delhi corona spike, NCR corona casesदिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने केजरीवाल सरकार को घेरा है। (file)

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने एक वीडियो शेयर करते हुए, कोरोना से होने वाली मौतों को लेकर केजरीवाल सरकार को घेरा है। सिरसा द्वारा ट्विटर पर शेयर किए गए वीडियो में श्मशान घाट पर एक साथ कई सारे शव जलते हुए दिख रहे है। सिरसा ने दावा किया है कि कोरोना से होने वाली मौतों की वजह से दिल्ली के शमशान घाट में हालात बेहद खराब हैं। यह वीडियो दिल्ली के पुंजाबी बाग का बताया जा रहा है।

मनजिंदर सिंह सिरसा ने ट्वीट कर लिखा “पुंजाबी बाग श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के लिए कोई जगह नहीं बची है। दिल्ली के लोगों से आग्रह किया कि वे सामाजिक दूरी बनाए रखें, मास्क पहनें और जितना हो सके बाहर जाने से बचें।” वीडियो में एक शख्स हाथ जोड़ कर मिन्नत करता हुआ दिखाई दे रहा है। इस वीडियो में एक शख्स कहता हुआ दिख रहा है कि मैं कहा लगा दूं शव आप बताइये, यहां जगह कहां है।

इस वीडियो को शेयर करते हुए सिरसा ने दिल्ली सरकार की कोरोना व्यवस्था पर सवाल उठाए। सिरसा ने कहा “न तो दिल्ली के अस्पताल में जगह है और ना ही श्मशान पर अंतिम संस्कार करने के लिए है।” सिरसा के इस बयान पर आम आदमी पार्टी ने उनपर लगे भ्रष्टाचार के मामले को उठाते हुए पलटवार किया है। आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने कहा “सिरसा जी पहले आप गुल्लक में नोट गिन रहे थे। अब आप श्मशान में लाशें गिन रहे हैं।”

दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक यहां पिछले 5 दिन से लगातार 100 से ज्यादा लोगों की संक्रमण से मौत हो रही है। पिछले दस दिनों में एक हजार से ज्यादा लोगों ने राजधानी में जान गंवाई है और इस हिसाब से एक दिन में 100 मौत का औसत सामने आया है। आलम ये है कि कब्रिस्तान में शवदाह की जगह नहीं बच रही है। आईटीओ के पास दिल्ली की सबसे बड़ी कब्रगाह है। वहां शवों को दफनाने के लिए 2 गज जमीन भी कम पड़ रही है।

सेक्रेटरी ऑफ कब्रिस्तान एहले इस्लाम, हाजी मियां फैयाजुद्दीन ने कहा बताया कि कुछ इंतजाम किया जाना चाहिए ताकि कोविड-19 पीड़ितों को आसपास की जगहों पर दफनाया जाए और रिश्तेदारों को यहां पर नहीं आना चाहिए क्योंकि जगह सीमित है। मंगलवार को भी राजधानी में 6,224 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 109 लोगों की जान चली गई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली में कोरोना से हाहाकार, लगातार 5वें दिन 100 से अधिक लोगों की मौत; पिछले 24 घंटे में 6624 केस
2 बंगाल में गुंडा राज…पुलिस नहीं कर रही मदद, सरकार बनी तो उन्हें जूते चाटने को मजबूर कर देंगे, बोले भाजपा उपाध्यक्ष
3 आठ महीने झांका भी नहीं, खुद को हुआ कोरोना तो अस्पताल में बेड पर रहने के बजाय दौरे पर निकल गए स्वास्थ्य मंत्री
यह पढ़ा क्या?
X