ताज़ा खबर
 

आप MLA सोमनाथ भारती को कोर्ट से राहत, घरेलू हिंसा के मामले में दर्ज FIR हुई निरस्त

दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक सोमनाथ भारती के खिलाफ घरेलू हिंसा के आरोप में दर्ज प्राथमिकी निरस्त कर दी। न्यायमूर्ति चंद्र शेखर ने इस तथ्य का संज्ञान लिया कि भारती और उनकी पत्नी लिपिका प्रसन्नता पूर्वक साथ रह रहे हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: May 7, 2019 3:08 PM
दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक सोमनाथ भारती के खिलाफ घरेलू हिंसा के आरोप में दर्ज प्राथमिकी निरस्त कर दी।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक सोमनाथ भारती के खिलाफ घरेलू हिंसा के आरोप में दर्ज प्राथमिकी निरस्त कर दी। न्यायमूर्ति चंद्र शेखर ने इस तथ्य का संज्ञान लिया कि भारती और उनकी पत्नी लिपिका प्रसन्नता पूर्वक साथ रह रहे हैं। उन्होंने इसी तथ्य के आधार पर आपराधिक मामला निरस्त करने का भारती का अनुरोध स्वीकार कर लिया। अदालत ने यह भी पाया कि प्राथमिकी निरस्त करने को लेकर महिला को किसी प्रकार की आपत्ति नहीं है। इससे पूर्व, अदालत ने लिपिका को घरेलू हिंसा के मामले में भारती की जमानत रद्द करने के लिये दायर आवेदन वापस लेने की अनुमति प्रदान की थी। अदालत को बताया गया कि वैवाहिक संबंध से जुड़े विवादों का निपटारा कर लिया गया है।

भारती की पत्नी ने दिल्ली महिला आयोग में दस जून, 2015 में दायर शिकायत और नौ सितम्बर, 2015 को पुलिस में दर्ज करायी प्राथमिकी में अपने पति पर घरेलू हिंसा करने और उसकी हत्या का प्रयास करने का आरोप लगाया था। दिल्ली महिला आयोग में दर्ज अपनी शिकायत में भारती की पत्नी लिपिका ने यह भी आरोप लगाया कि जब वे तीसरी बार गर्भवती हुईं तब उन्होंने उन्हें गर्भपात के लिए मजबूर किया था। लगातार उत्पीड़न से आजिज आकर उन्होंने एक बार अपनी कलाई काट लेने की कोशिश की थी।

उस दौरान आयोग की अध्यक्ष बरखा सिंह ने कहा था, ‘अपनी शिकायत में उन्होंने उल्लेख किया है कि जब उनके गर्भ का सातवां महीना चल रहा था तब वे उनके पीछे कुत्ते छोड़ देते थे। उन्होंने कहा कि भारती ने उन्हें एक बार गर्भपात के लिए मजबूर किया और उसने अपनी कलाई काट लेने की कोशिश की’। लिपिका ने आयोग को सौंपी 26 पृष्ठों की शिकायत में भारती से अपनी जान को निरंतर खतरा होने की बात कही थी। इस दंपति के दो बच्चे हैं। लिपिका बच्चों के साथ द्वारका में अलग रह रही हैं।

 

Next Stories
1 Cyclone Fani: सुपर साइक्लोन से सबक लेकर IIT प्रोफेसर्स ने बनाए कंक्रीट के शेल्टर होम, तूफान से बचाई हजारों लोगों की जान
2 Bihar: पोस्टमॉर्टम के बाद लावारिस छोड़ दिया शव, कुत्तों ने नोंच-नोंचकर खाया
3 डीयू के 200 टीचर्स ने की नरेंद्र मोदी की आलोचना? सैम पित्रोदा ने शेयर किया लेटर
ये पढ़ा क्या?
X