ताज़ा खबर
 

पंचायत चुनाव की “मतगणना के बीच” ही UP में 2 दिन और बढ़ा आंशिक कर्फ्यू, अब 6 तारीख तक रहेगी बंदी

उत्तर प्रदेश में कोरोना के रफ्तार पर ब्रेक नहीं लग रहा है। रविवार को 30983 नए मामले राज्य में सामने आए। रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान 290 लोगों की मौत हुई है।

corona, lockdownकोरोना टास्क फोर्स की सलाह है कि देश में तुरंत लॉकडाउन लगाया जाए। (PTI)।

उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के लिए मतों की गणना का कार्य जारी है। इस बीच सरकार ने एक अहम फैसला लेते हुए राज्य में 2 दिन के लिए आंशिक कर्फ्यू को बढ़ा दिया है। बताते चलें कि पहले आंशिक कर्फ्यू मंगलवार तक के लिए लगायी गयी थी। लेकिन अब ये गुरुवार तक के लिए बढ़ा दी गयी है। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि राज्य में कर्फ्यू 6 मई सुबह 7 बजे तक रहेगी।

बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट ने राज्य चुनाव आयोग को शर्तों के साथ पंचायत चुनाव के मतगणना की इजाजत दी थी। पंचायत चुनाव में प्रत्याशियों की जीत के बाद होने वाले जश्र्न को रोकने के लिए राज्य सरकार की तरफ से यह कदम उठाया गया है। बताते चलें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना के रफ्तार पर ब्रेक नहीं लग रहा है। रविवार को 30983 नए मामले राज्य में सामने आए। रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान 290 लोगों की मौत हुई है।

मयावती ने की मुफ्त वैक्सीन की मांग: बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कहा कि सभी पार्टियों को, दलगत राजनीति से ऊपर उठकर केन्द्र सरकार से यह माँग करनी चाहिए कि कोरोना-पीड़ित गरीबों व कमजोर वर्गों के इलाज का पूरा खर्च केन्द्र स्वयं वहन करे तथा इनको कोरोना वैक्सीन भी मुफ्त में ही लगवाए।

गौरतलब है कि देश में सोमवार को कोविड-19 के 3,68,147 नए मामले आए तथा 3417 और मरीजों की मौत हो गयी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के मुताबिक नए मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 1,99,25,604 जबकि मृतक संख्या 2,18,959 हो गयी है।देश में एक मई को संक्रमण के रिकॉर्ड 4,01,993 नए मामले आए थे वहीं दो मई को 3,92,488 मामले सामने आए। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 34,13,642 हो गयी है जो संक्रमण के कुल मामलों का 17.13 प्रतिशत है। वहीं कोविड-19 से ठीक होने की दर 81.77 प्रतिशत हो गयी है। मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देश में 1,62,93,003 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि मृत्यु दर 1.10 प्रतिशत हैं।

देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या पिछले साल सात अगस्त को 20 लाख को पार कर गई थी। वहीं कोविड-19 मरीजों की संख्या 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के आंकड़े को पार कर गई थी।

इसके बाद 28 सितंबर को कोविड-19 के मामले 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख, 19 दिसंबर को एक करोड़ और 19 अप्रैल को कोविड-19 के मामले 1.5 करोड़ से अधिक हो गए थे। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के मुताबिक, दो मई तक 29,16,47,037 नमूनों की जांच की गई है जिनमें से 15,04,698 नमूनों की रविवार को जांच की गई।

Next Stories
1 राहत बनी आफत
2 बंगाल में टीएमसी की जीत के बाद बोलीं ममता बनर्जी, जीतने के लिए दंगा भी करवा सकते हैं मोदी, मुझे डर नहीं लगता
3 बंगाल चुनावः जीत के ‘मैन ऑफ द मैच’ बने प्रशांत किशोर, जानें कैसे पीएम मोदी से लेकर ममता बनर्जी तक के लिए बिछाई चुनावी बिसात
यह पढ़ा क्या?
X