ताज़ा खबर
 

ACB का दावा- लोकसभा चुनाव लड़ना चाहता था 100 करोड़ का मालिक IRS अफसर, ब्याज पर देता था रिश्वत के पैसे

मीणा लोकसभा चुनाव भी लड़ना चाहते थे और इसके लिए वे कुछ राजनीतिक दलों के संपर्क में भी थे। उल्लेखनीय है कि मीणा पीएचडी हैं और कर सुधार को लेकर एक किताब भी लिख चुके हैं।

Author January 30, 2019 6:02 PM
आईआरएस अधिकारी सहीराम (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

राजस्थान में रिश्वतखोरी के आरोप में एंटी करप्शन ब्यूरो की छापेमारी के बाद गिरफ्तार किए गए IRS अधिकारी सही राम मीणा को लेकर खुलासों का दौर जारी है। पुलिस उनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति रखने का मुकदमा दर्ज कराएगी। इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक मीणा के पास 100 करोड़ रुपए से भी ज्यादा की संपत्ति है। उल्लेखनीय है कि 1989 में कस्टम में नियुक्त होने वाले मीणा 1997 में भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी बन गए थे।

लड़ना चाहते थे लोकसभा चुनावः शनिवार को मीणा के जयपुर और कोटा स्थित ठिकानों पर हुई छापेमारी में 100 से ज्यादा प्लॉट, मैरिज गार्डन, पेट्रोल पंप, बड़े ट्रक और कृषि भूमि के कागजात जब्त किए गए थे। तब करीब 2.26 करोड़ रुपए की नकदी भी जब्त की गई थी। इसे राजस्थान में एसीबी की सबसे बड़ी कार्रवाई माना जा रहा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक मीणा लोकसभा चुनाव भी लड़ना चाहते थे और इसके लिए वे कुछ राजनीतिक दलों के संपर्क में भी थे। उल्लेखनीय है कि मीणा पीएचडी हैं और कर सुधार को लेकर एक किताब भी लिख चुके हैं।

पहले मूल्यों पर भाषण, फिर रिश्वतखोरीः एडीजीपी सौरभ श्रीवास्तव के मुताबिक, ‘दो साल पहले नीमच से कोटा ट्रांसफर किए गए मीणा पर लाइसेंसधारी अफीम किसानों से रिश्वत लेने का आरोप लगा था। हर दिन अवैध गतिविधियों से उन्हें लाखों रुपए की आय होती थी। उनके घर से रिश्वत के हिसाब-किताब वाली एक डायरी भी थी। इसमें पैसे ब्याज पर दिए जाने का भी जिक्र था।’ उल्लेखनीय है कि अपने दफ्तर में गणतंत्र दिवस पर मूल्यों पर भाषण देने और तिरंगा फहराने के थोड़ी देर बाद एक लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़े गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App