ताज़ा खबर
 

कोरोना के खिलाफ जंग में सीएम योगी ने उतारे 66 फायर ब्रिगेड, हरी झंडी दिखा किया रवाना; हर सड़क, गली होगी सैनिटाइज

लखनऊ में एक कार्यक्रम में इन गाड़ियों को हरी झंडी दिखाने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अत्याधुनिक उपकरणों से युक्त ये फायर टेंडर किसी भी प्रकार के विषाणु अवरोधक कार्यों को करने के लिए या विषाणुओं को समाप्त करने के लिए सैनिटाइजेशन के कार्यों में भी तत्काल जुटेंगी।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: April 8, 2020 11:32 AM
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। (indian express)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार (08 अप्रैल) को पहले फेज में 66 फायर टेंडर का लोकार्पण किया। ये फायर ब्रिगेड प्रदेश में कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने में सहायक होंगे। इनके जरिए राज्य के अलग-अलग शहरों, तहसीलों और गांवों की गलियों और सड़कों को सैनेटाइज किया जाएगा। लखनऊ में एक कार्यक्रम में इन गाड़ियों को हरी झंडी दिखाने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अत्याधुनिक उपकरणों से युक्त ये फायर टेंडर किसी भी प्रकार के विषाणु अवरोधक कार्यों को करने के लिए या विषाणुओं को समाप्त करने के लिए सैनिटाइजेशन के कार्यों में भी तत्काल जुटेंगी।

योगी ने कहा, “देश में आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्रर् मोदीजी के नेतृत्व में कोरोना वायरस को पूरी तरह परास्त करने के लिए आमजन की सहभागिता से लॉकडाउन की कार्रवाई को सफलतापूर्वक आगे बढ़ाया जा रहा है।” उन्होंने कहा, आज से लगभग 10 दिन पहले प्रदेश के पुलिस महानिदेशक और अपर मुख्य सचिव,गृह को इस बारे में कहा था कि अगर हम लोग फायर ब्रिगेड की गाड़ियों का उपयोग भी सैनिटाइजेशन के लिए कर सकें तो समयबद्ध ढंग से हम प्रत्येक गांव व शहर को पूरी तरह से विषाणु मुक्त कर सकते हैं।”

मुख्यमंत्री ने भरोसा जताया कि लॉकडाउन की इस कार्रवाई में जहां हर नागरिक अपनी सहभागिता सुनिश्चित कर रहा है, वहीं इस अवधि का उपयोग सरकारी तंत्र स्वच्छता और सैनिटाइजेशन की लिए करेगा। हालांकि, इसके लिए स्वास्थ्य विभाग, नगर निकाय, ग्राम पंचायतों के सभी लोग पहले से ही कार्य कर रहे थे। अब इस काम में अग्निशमन दस्ते को भी शामिल कर लिया गया है। बता दें कि प्रदेश की 350 तहसीलों में से आधी तहसीलें ऐसी थीं जिनमें फायर टेंडर नहीं थे।

Coronavirus in India LIVE Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट

सीएम ने कहा कि विगत 3 वर्षों में चरणबद्ध तरीके से इन्हें आगे बढ़ाते हुए तहसीलों को फायर ब्रिगेड उपलब्ध कराए गए हैं। अब तक केवल 130 तहसीलें ही ऐसी रह गई थीं, जिनमें फायर टेंडर अब तक नहीं थे। इनमें से 66 में आज फायर ब्रिगेड की तैनाती कर दी गई है। बता दें कि चार दिन पहले योगी ने कोरोना से निबटने के लिए 1000 करोड़ का कोविड केयर फंड की स्थापना का ऐलान किया था।

उन्होंने इस फंड के माध्यम से राज्य के मेडिकल कॉलेजों में टेस्टिंग लैब की संख्या बढ़ाने पर भी जोर दिया था। इसके अलावा क्वारंटाइन वार्ड, आइसोलेशन वार्ड और वेंटिलेटर की व्यवस्था करने के साथ एन-95 मास्क, पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट और सैनिटाइजर बनाने की कार्ययोजना भी तैयार करने के आदेश दिए थे।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 हम तो कोरोना को चबा जाएंगे, हम मेहनत करने वाले हैं नाजुक नहीं’, बिहार में क्वरंटीन में रह रहे प्रवासी मजदूरों का जज्बा
2 COVID-19 India State-Wise HIGHLIGHTS: झारखंड में कोरोनावायरस के 9 नए मामले, मध्य प्रदेश के धार में पहला पॉजिटिव केस मिलने के बाद 3 किमी. का इलाका सील
3 ‘अब तो भूखे मरने की स्थिति है’, राशन खत्म, पैसा खत्म; दिन गिनते और मोबाइल पर न्यूज सुनते सड़कों पर ड्राइवर-कंडक्टर काट रहे दिन