ताज़ा खबर
 

Coronavirus Lockdown: सैकड़ों किमी चले, घर के पास पहुंच कर सड़कों पर ही सोने को मजबूर हुए मजदूर

Coronavirus Lockdown: मामला बिहार के गोपालगंज से जुड़ा है, जहां अलग-अलग राज्यों से सैकड़ों किलोमीटर चलकर मजदूर यहां पहुंचे मगर प्रशासन की तरफ से इनके लिए व्यवस्था नहीं की गई है।

सड़क पर सो रहे ये प्रवासी मजदूर राजस्थान, पंजाब और हरियाणा से बिहार में पहुंचे हैं। (वीडियो स्क्रीन शॉट)

Coronavirus Lockdown: देश में कोरोना वायरस महामारी को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन और बेरोजगारी के चलते प्रवासी मजदूर बेहाल हैं। ताजा मामला बिहार के गोपालगंज से जुड़ा है, जहां अलग-अलग राज्यों से सैकड़ों किलोमीटर चलकर मजदूर यहां पहुंचे मगर प्रशासन की तरफ से इनके लिए व्यवस्था नहीं की गई है। एबीपी की रिपोर्ट के मुताबिक प्रशासन की लापरवाही के चलते 50 से ज्यादा मजदूरों को अब सड़क पर ही सोने को मजबूर होना पड़ रहा है। सामने आए एक वीडियो में मजदूर सड़क पर खड़े ट्रकों के नीचे एक दूसरे के बहुत करीब सोते हुए देखे गए।

Coronavirus in Rajasthan LIVE Updates

सड़क पर सो रहे ये प्रवासी मजदूर राजस्थान, पंजाब और हरियाणा से बिहार में पहुंचे हैं। एक मजदूर ने बताया कि उन्हें खाने के लिए भोजन भी नहीं मिल पा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक साइकिल और पैदल चलकर ये मजदूर एक हजार से ज्यादा किलोमीटर की दूरी तय कर यहां पहुंचे हैं। प्रदेश के सीतामढ़ी निवासी मनीष यादव ने कहते हैं कि वो राजस्थान से यहां पहुंचे हैं और आपने गांव वापस लौटना चाहते हैं। प्रवासी मजदूर यादव ने कहा, ‘हम बहुत परेशान हैं। हमारे साथ जो लोग हैं वो सभी भूखे हैं। हमें खाना भी नहीं मिल पा रहा है। पैसे भी खत्म हो चुके हैं और जहां काम करते थे वो कंपनियां बंद हो चुकी हैं। इसलिए हमें यहां आने के लिए मजबूर होना पड़ा है।’ पूछने पर उन्होंने बताया कि वो पैदल चलकर यहां पहुंचे हैं।

देशभर में कोरोना वायरस से जुड़ी खबर लाइव पढ़ने के लिए यहां क्कि करें

एक अन्य मजदूर ने बताया कि हरियाणा से पैदल चलकर यहां पहुंचे हैं और मधुबनी जिले में स्थित अपने घर लौटना चाहते हैं। मजदूर ने बताया कि वो हरियाणा में ई-रिक्शा चलाते थे और रोजगार ना होने पर तीन लोगों के साथ साइकिल से चलकर यहां तक पहुंचे हैं। वहीं गोपालगंज के एसडीएम ने बताया कि तैयारी पूरी कर ली गई है और बसों से जल्द ही इन मजदूरों को उनके जिलों में पहुंचा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो मजदूर प्रदेश लौटेंगे उनका पंजीकरण किया जाएगा, जिलावार बसों की व्यवस्था की जाएगी और बसों में उन लोगों को संबंधित जिलों के अधिकारियों को सौंप दिया जाएगा।

कोरोना वायरस से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए इन लिंक्स पर क्लिक करें | गृह मंत्रालय ने जारी की डिटेल गाइडलाइंस | क्या पालतू कुत्ता-बिल्ली से भी फैल सकता है कोरोना वायरस? | घर बैठे इस तरह बनाएं फेस मास्क | इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेलक्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

बता दें कि देश में कोरोना वायरस के कारण 72 और लोगों के जान गंवाने के साथ ही शुक्रवार को इससे मरने वाले लोगों की संख्या 1,147 हो गई और संक्रमितों की संख्या बढ़कर 35,043 हो गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 से अब भी 25,007 लोग संक्रमित हैं जबकि 8,888 लोग स्वस्थ हो गए और एक मरीज देश छोड़कर चला गया। कुल 35,043 संक्रमितों में 111 विदेशी नागरिक शामिल हैं। गुरुवार शाम से लेकर अब तक महाराष्ट्र में 27, गुजरात में 17, पश्चिम बंगाल में 11, मध्य प्रदेश और राजस्थान में सात-सात और दिल्ली में तीन लोगों की मौत हुई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Bihar Coronavirus: 15 नए मरीजों के साथ बिहार में कोरोना संक्रमितों की तादाद 481 हुई, तीन की मौत
2 जनता को रोटी नहीं दे सकते तो रामायण, महाभारत दिखाओ- पूर्व जज का मोदी सरकार पर तंज
3 दिल्ली-हरियाणा सीमा पर डटे हैं कोरोना योद्धा नवीन मोर