ताज़ा खबर
 

लॉकडाउन में ढील के बाद बिहार में खुले सैलून और ब्यूटीपार्लर तो लग गई भीड़, लाइन में लगे लोग

सैलून और ब्यूटी पार्लर संचालकों का कहना है कि जैसे ही प्रशासन की तरफ से सैलून खोलने का आदेश आया, उसके बाद एक दिन सैलून में साफ-सफाई और सैनेटाइजेशन का काम किया गया।

बिहार के समस्तीपुर में प्रशासन ने सैलून, ब्यूटीपार्लर खोलने की इजाजत दे दी है। (वीडियो ग्रैब इमेज/ यूट्यूब)

बिहार सरकार ने रेड जोन इलाकों में सैलून खोलने और निर्माण कार्य की इजाजत दे दी है। जिसके बाद जिले के सैलून खुल गए हैं और उन पर लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है। महिलाएं भी बड़ी संख्या में ब्यूटी पार्लर पहुंच रही हैं। लोगों का कहना है कि लॉकडाउन के चलते सैलून बंद होने से उनके दाढ़ी बाल काफी बढ़ गए थे और उन्हें अच्छा महसूस नहीं हो रहा था। अब सैलून खुलने से काफी राहत मिली है।

बता दें कि देश में बीते 40 दिनों से भी ज्यादा वक्त से लॉकडाउन लागू है। इस दौरान सैलून और ब्यूटी पार्लर भी बंद रहे। जिसके चलते लोगों को खासी परेशानी उठानी पड़ी। अब जब सरकार ने सैलून खोलने का निर्देश दे दिया है तो लोग बाल-दाढ़ी कटाने के लिए सैलून का रुख कर रहे हैं।

न्यूज तक की खबर के अनुसार, सैलून और ब्यूटी पार्लर संचालकों का कहना है कि जैसे ही प्रशासन की तरफ से सैलून खोलने का आदेश आया, उसके बाद एक दिन सैलून में साफ-सफाई और सैनेटाइजेशन का काम किया गया। इसके साथ ही स्टाफ को ग्लव्ज और मास्क पहनकर काम करने के निर्देश दिए गए।

अधिकारियों ने बताया कि केन्द्र के स्पष्ट निर्देश हैं कि रेड जोन में सारे नियम लागू रहेंगे बस 4 चीजों की इजाजत दी गई है। पहला सैलून और स्पा की दुकानें, दूसरा है सभी तरह के निर्माण कार्यों की इजाजत, तीसरा है सभी तरह की औद्योगिक गतिविधियां और चौथा है ई-कॉमर्स बिजनेस।

बिहार में कोरोना संक्रमण की बात करें तो राज्य के 38 में से 37 जिलों में कोरोना का संक्रमण फैल चुका है। सिर्फ जमुई ही ऐसा जिला है, जहां अभी तक कोरोना वायरस ने दस्तक नहीं दी है। राज्य में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 600 के पार चली गई है। बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 646 हो गई है। रविवार को कोरोना के 18 नए केस मिले हैं। मुंगेर राज्य में कोरोना का सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बना हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories