ताज़ा खबर
 

कोरोनाः ऑक्सीजन की किल्लत पर अब BJP विधायक ने लिखा CM को खत, 1 रोज पहले डिप्टी CM को पार्टी सांसद ने भेजी थी चिट्ठी

उन्होंने इसके अलावा यह भी कहा कि सभी विधायकों ने अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों के लिए कम से कम 10 ऑक्सीमीटर की मांग उठाई थी, पर वह भी अभी तक (खबर लिखे जाने तक) पूरी न हुई।

Edited By अभिषेक गुप्ता लखनऊ | Updated: May 8, 2021 10:09 AM
उत्तर प्रदेश में 24 घंटे में कोरोना के 28,076 नए मामले सामने आए थे, जबकि 33,117 लोग डिस्चार्ज किए गए और 372 लोगों की जान चली गई। शुक्रवार को राज्य के स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी गई जानकारी में यह भी बताया गया था कि सूबे में कुल केस 14,53,679 और एक्टिव केस 2,54,118 थे। (फोटोः एक्सप्रेस आर्काइव/पीटीआई/टि्वटर)

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में मोहम्मदी विधानसभा क्षेत्र से BJP विधायक लोकेंद्र प्रताप सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को मेडिकल ऑक्सीजन की किल्लत को लेकर पत्र लिखा है।

चिट्ठी में उनका दावा है कि प्राणदायिनी गैस की कमी की वजह से उनके इलाके में कई जानें चली गईं। सोशल मीडिया पर वायरल अपने खत में उन्होंने यह भी बताया कि लखीमपुर खीरी पर आखिर किस तरह कोरोना वायरस की दूसरी लहर की मार पड़ी है। उन्होंने कहा है कि कोरोना के मामले बेहद तेजी से बढ़े हैं, जबकि असहाय होकर उन्होंने जरूरी चीजों की आपूर्ति के लिए लोगों को मरते हुए देखा है। साथ ही बताया कि कई सामाजिक कार्यकर्ताओं, पत्रकारों, राजनेताओं, शिक्षकों, सरकारी कर्मचारियों, वकीलों और अन्य लोगों द्वारा मदद मांगे जाने के बाद भी वह उनकी जान बचाने में नाकाम रहे।

सिंह के मुताबिक, “मेरे विस क्षेत्र में कोरोना से होने वाली अधिकतर मौतें ऑक्सीजन की किल्लत के कारण हुई। जीवनदायिनी गैस कम पड़ती जा रही है और लोग इसी वजह से मर रहे हैं।” उन्होंने इसके अलावा यह भी कहा कि सभी विधायकों ने अपने-अपने विधानसभा क्षेत्रों के लिए कम से कम 10 ऑक्सीमीटर की मांग उठाई थी, पर वह भी अभी तक (खबर लिखे जाने तक) पूरी न हुई।

हालांकि, विधायक ने कोरोना महामारी से निपटने में अपनी सरकार का बचाव किया। कहा कि योगी सरकार स्थिति का सामना करने के लिए अपना सर्वोच्च दे रही है। साथ ही जिला प्रशासन भी कड़ी मेहनत कर रहा है, पर जिले में ऑक्सीजन की किल्लत की वजह से दिक्कत है।

वैसे, यह पहला मौका नहीं है, जब यूपी में सत्ता/BJP पक्ष से किसी ने सरकार को कोरोना और ऑक्सीजन के मुद्दे आगाह न किया हो। इससे एक या दो रोज पहले ही कानपुर से बीजेपी सांसद सत्यदेव पचौरी ने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को खत लिखा था और बताया था कि वक्त पर इलाज न मिलने की वजह से लोगों की जानें जा रही हैं। उन्होंने इसके अलावा सुझाव दिया था कि सरकार को कोरोना की तीसरी लहर से निपटनने के लिए तैयारी करनी चाहिए।

बता दें कि यूपी का कानपुर अधिक केस लोड और कोरोना से होने वाली मौतों वाले शहरों में से एक है। हमारे सहयोगी अखबार “दि इंडियन एक्सप्रेस” को पचौरी ने बताया- हां, मैंने उप-मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था, जो कि कानपुर के प्रभारी मंत्री हैं। मैंने सरकार से गुजारिश की है कि वे तीसरी लहर की तैयारी करें, जिसकी चर्चा अभी चल रही है।

Next Stories
1 पति-ससुर को नशीली चाय पिला गहने-कैश ले उड़ी दुल्हन, करीब 2 माह पहले हुई थी शादी
2 असम CM पर BJP नेतृत्व में माथापच्ची! नड्डा के घर शाह की मौजूदगी में 4 घंटे चला मंथन, पर नाम पर न बन पाई सहमति
3 कोरोना से पिता की मौत, बेटी से बोला अस्पताल, बाप गया मां भी जाएगी, दो हजार दो तभी होगी देखभाल
ये  पढ़ा क्या?
X