ताज़ा खबर
 

Corona Virus: कोविड 19 के डर से युवक ने की आत्महत्या, साले की शादी में पहुंचा था ससुराल

मृतक के रिश्तेदार महेश ने सोमवार को बताया, "जुकाम, खांसी और बुखार से पीड़ित होने पर गांव के कुछ लोगों ने राजेंद्र के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका जताई थी जिसके बाद वह मकान की दूसरी मंजिल पर बने एक कमरे में अकेले रहने लगा था और घर-परिवार के लोग भी उससे दूरी बनाने लगे थे।

प्रतीकात्मक तस्वीर

बांदा जिले के देहात कोतवाली क्षेत्र में मिस्त्री का काम करने वाले युवक ने कथित रूप से कोरोना वायरस के संक्रमण के डर से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस सूत्रों ने सोमवार को बताया कि मूलरूप से हमीरपुर जिले के चिल्ली गांव के रहने वाले राजेंद्र (35) ने शनिवार देर शाम जमालपुर गांव स्थित अपने ससुराल में पंखे के हुक से फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। रविवार को पोस्टमॉर्टम कराने के बाद उसका शव उसके ससुराल वालों को सौंप दिया गया। उन्होंने बताया कि राजेंद्र दिल्ली में रहकर राजमिस्त्री का काम करता था और वह बंद घोषित होने से पहले अपने साले की शादी में यहां आया था। वह कुछ दिनों से जुकाम, खासी और मामूली बुखार से पीड़ित था।

मृतक के रिश्तेदार महेश ने सोमवार को बताया, “जुकाम, खांसी और बुखार से पीड़ित होने पर गांव के कुछ लोगों ने राजेंद्र के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका जताई थी जिसके बाद वह मकान की दूसरी मंजिल पर बने एक कमरे में अकेले रहने लगा था और घर-परिवार के लोग भी उससे दूरी बनाने लगे थे। उसने संभवत: कोरोना वायरस संक्रमण के भय से आत्महत्या कर ली।’’ हालांकि, जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉक्टर सन्तोष कुमार ने कहा कि युवक ने किसी भी सरकारी अस्पताल में अपना इलाज नहीं कराया और वह गांव वालों की राय से जुकाम, खांसी और बुखार की दवाइयां खाता रहा।
उन्होंने कहा कि हो सकता है कि ससुराल के लोगों से विवाद की वजह से उसने आत्महत्या की हो। मामले के हर पहलू की जांच की जा रही है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों राज्य के सहारनपुर जिले में बुधवार रात एक सरकारी कर्मचारी ने कोरोना वायरस की दहशत के चलते आत्महत्या कर ली । उसके पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है जिसमेु उसने कोरोना के डर से जान देने की बात कही है। एस पी देहात विधासागर मिश्रा ने बताया कि जिले के थाना नकुड के अन्तर्गत गन्ना विकास परिषद कार्यालय में लिपिक के पद पर कार्यरत 38 वर्षीय आदेश सैनी ने बुधवार देर रात गले में फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली।

मिश्रा ने बताया कि रोजाना गन्ना विकास परिषद का कार्यालय सांय पांच बजे बंद हो जाता था लेकिन बुधवार रात नौ बजे तक जब कार्यालय खुला नजर आया तो पास के लोग गन्ना कार्यालय पहुंचे। उन्होंने कमरे में लिपिक आदेश सैनी को फंदे से झुलता पाया। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुची। उन्होंने बताया कि मृतक के पास से एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें लिखा है कि वह कोरोना से डर रहा है इसलिये इस दुनिया से जा रहा है । उन्होंने बताया कि नोट में यह भी लिखा है कि उसकी मौत के लिये कोई जिम्मेदार नहीं है कोरोना के डर से उसने अपनी जान दी है । मिश्रा ने बताया कि पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 छत्तीसगढ़ः Covid 19 के खिलाफ जागरुकता फैलने के लिए पुलिस ने अपनाया अनोखा तरीका
2 Corona Virus Update: गुजरात में 14 महीने के बच्चे को हुआ कोरोना वायरस, यूपी के मजदूर का है बेटा
3 ईगो के चलते 50 लाख न लिए, अब 1 करोड़ दे रहा हूं- गंभीर की पेशकश पर बोले केजरीवाल, ‘पैसे की दिक्कत नहीं है, PPE किट दिलाएं’