ताज़ा खबर
 

Covid 19 से देश में पहले डॉक्टर की मौत, नहीं कर रहे थे कोरोना पीड़ितों का इलाज, शहर पूरी तरह से सील

62 वर्षीय जनरल फिजिशियन डॉ शत्रुघ्न पंजवानी को चार दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव पाया गया था। इस खतरनाक वायरस के संक्रमण से डॉक्टर की मौत का यह भारत में पहला मामला है।

हॉटस्पॉट इंदौर में कोरोना पॉज़िटिव डॉक्टर की मौत। (indian express file)

भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेजी से फैल रहा है। देश में इसके संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को मध्यप्रदेश के इंदौर में इसके चलते एक डॉक्टर की मौत हो गई है। वहीं शहर में कई डॉक्टर कोरोना से संक्रमित हैं। इस बात की पुष्टि जिले के सीएमएचओ ने की है। इसके साथ ही इंदौर में मृतकों की संख्या 22 पहुंच गई है। मध्यप्रदेश में कोरोना से सबसे ज्यादा मौत इंदौर में हुई हैं।

62 वर्षीय जनरल फिजिशियन डॉ शत्रुघ्न पंजवानी को चार दिन पहले कोरोना पॉज़िटिव पाया गया था। इस खतरनाक वायरस के संक्रमण से डॉक्टर की मौत का यह भारत में पहला मामला है। स्वास्थ्य विभाग के सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जड़िया ने बताया कि डॉ शत्रुधन पंजवानी पिछले दिनों कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और उनका उपचार पहले गोकुलदास में चल रहा था। उसके बाद सीएचएल और फिर उन्हें अरविंदों में शिफ्ट किया था। उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी, आज सुबह उनकी मौत हो गई। डॉक्टर पंचवानी इंदौर के रुपराम नगर में रहते थे।

Coronavirus in India LIVE Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट 

डॉ पंजवानी की पत्नी और उनके तीनों बेटे इस वक़्त ऑस्ट्रेलिया में हैं। उनके सहयोगी डॉ नटवर ने बताया कि पंजवानी जिन रोगियों का इलाज़ कर रहे थे वे ज्यादातर झुग्गी बस्ती से आते हैं। उनके एक रिश्तेदार ने कहा कि उनके ज्यादातर मरीज निम्न आय वर्ग के थे। वह कोरोना से पीड़ित मरीजों का इलाज नहीं कर रहे थे।


कोरोना की वजह से इंदौर को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने लिखा कि दूसरों के अमूल्य जीवन की रक्षा और कोविड-19 के विरुद्ध युद्ध लड़ते हुए बलिदान हो जाने वाले डॉक्टर शत्रुघ्न पंजवानी जी की आत्मा की शांति के लिए हम सब प्रदेशवासी ईश्वर से करबद्ध प्रार्थना करते हैं। आप जैसे महामानव को कभी भुलाया ना जा सकेगा। विनम्र श्रद्धांजलि।

वहीं, मध्य प्रदेश में दो आईपीएस अधिकारी बुधवार को कोरोना वायरस संक्रमित पाये गये हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इनमें से एक अधिकारी भोपाल में पदस्थ हैं, जबकि दूसरे अधिकारी इंदौर में पदस्थ हैं। दोनों अधिकारियों को भोपाल एवं इंदौर में क्वारंटाइन में रखा गया है।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली के बंगाली मार्केट में मिठाई दुकान की छत पर थे 35 मजदूर, दो में कोरोना के लक्षण, दुकानदार पर FIR
2 महाराष्ट्र में एक दिन में 18 लोगों ने तोड़ा दम, दिल्ली और एमपी में तीन-तीन मौत, मृतकों की कुल संख्या हुई 232
3 हम अपने घर कब जाएंगे? शेल्टर होम में रखे लोग पूछ रहे सवाल, एक स्कूल में बंद हैं 186 लोग, लॉकडाउन बढ़ा तो फिर यहीं काटने होंगे दिन-रात!