ताज़ा खबर
 

हम अपने घर कब जाएंगे? शेल्टर होम में रखे लोग पूछ रहे सवाल, एक स्कूल में बंद हैं 186 लोग, लॉकडाउन बढ़ा तो फिर यहीं काटने होंगे दिन-रात!

बहराइच जिला मुख्यालय से लगभग 50 किलोमीटर दूर गुरगुट्टा गाँव में राजकीय बालिका इंटर कॉलेज में क्वारंटाइन प्रवासी मजदूर और उनके परीवार चीख-चीख कर पूछ रहे हैं कि वे घर कब जाएंगे।

Author Translated By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: April 9, 2020 12:14 PM
कोरोना संक्रमितों के लिए बने एकांतवास केंद्रों में खाने-पीने-रहने संबंधी शिकायतें अधिक मिल रही हैं।

उत्तर प्रदेश के बहराइच जिला मुख्यालय से लगभग 50 किलोमीटर दूर गुरगुट्टा गाँव में राजकीय बालिका इंटर कॉलेज के परिसर में एक शटर के पीछे से आवाज़ आती है। अपने खेतों से लौटने वाले किसान मुश्किल से अपना सिर उठाकर उस तरफ देखते हैं। शटर जिसमें एक बड़ा सा ताला लगा है उसके पीछे से चीखते हुए लोगों पर सभी का ध्यान जाता है। वे बार-बार बाहर बैठे एक कांस्टेबल से पूछ रहे हैं “हम अपने घर कब जाएंगे?”

पिछले हफ्ते बड़े शहरों से घर लौटने की कोशिश कर रहे प्रवासी मजदूरों को उत्तर प्रदेश में कई जगह इसी तरह रखा गया है। इस क्वारंटीन सेंटर में 186 लोग बंद हैं। यहां प्रवासी मजदूरों और उनके परिवार के लोग शामिल है जिसमें 55 महिलाएं, 29 बच्चे और एक शिशु है। इन लोगों को “रिलीज़” करने की अनौपचारिक तारीख 14 अप्रैल है। अभी लॉकडाउन बढ़ाने को लेकर कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है।

Coronavirus in India LIVE Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट 

नीरज कुमार को यहां से लगभग 20 किमी दूर नेपाल की सीमा से पुलिस द्वारा लाया गया है। कुमार शटर ग्रिल को ज़ोर से खींचता हुए पुलिस से पूछ रहे हैं कि सरकार हमसे अपराधियों की तरह क्यों व्यवहार कर रही है?

29 वर्षीय का कहना है कि उसकी पत्नी यहां से 150 किलोमीटर दूर अयोध्या में है। उसके पास पैसे खत्म हो गए और वह तीन बच्चों को पाल रही है। लॉकडाउन खत्म होने के बाद उसे डर है कि उसे अयोध्या तक चलकर जाना होगा। कुमार ने कहा “जब मेरे पास पैसे नहीं होंगे तो मैं और कैसे जाऊंगा?”

एक अधिकारी का कहना है किक्वारंटीन सेंटर रहने वाले कई लोग नेपाल से लौट रहे थे। सीमा पास होने कि वजह से क्षेत्र के बहुत से पुरुष काम के लिए बार्डर पार करते हैं।

जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल । कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories