ताज़ा खबर
 

केरलः 93 साल के मरीज ने जीती कोरोना से ‘जंग’, पर डॉक्टर्स को न था यकीन, बोले- 6 मौकों पर लगा था कि उन्हें खो दिया

अस्पताल में भर्ती होने के बाद थॉमस को दिल का दौरा पड़ा था और मरियम्मा को एक बैक्टीरियल इन्फ़ैकशन हुआ था। इसके अलावा जो नर्स इंका इलाज़ कर रहीं थी उन्हें टेस्ट में कोरोना पॉज़िटिव पाया गया है।

Author , Translated By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: March 31, 2020 9:57 AM
kerala couple recover coronavirus, coronavirus cured patients, Pathanamthitta, coronavirus kerala cases, covid-19 news, corona in india, lockdown, 21 days lockdown, corona latest cases in india, corona deaths in india, latest news corona, corona news in hindi, hindi news, jansatta newscoronaVirus: 93 वर्षीय व्यक्ति का कोरोना टेस्ट नकारात्मक निकला। (AP/File)

केरल के पठानमथिट्टा जिले से एक अच्छी खबर आ रही है। यहां एक दंपति 93 वर्षीय थॉमस और 88 वर्षीय मरियम्मा ने कोरोना से ‘जंग’ जीत ली है। दंपति कई उम्र से संबंधित बीमारियों और अंतर्निहित बीमारियों से पीड़ित हैं। पिछले कई दिनों से वे अस्पताल में थे सोमवार को उनका टेस्ट किया गया और उनका टेस्ट नकारात्मक निकला जिसके बाद उन्हें जल्द अस्पताल से छुट्टी की तैयारी है। कोरोना का संक्रमण देश में तेजी से फ़ेल रहा है अबतक इसके संक्रमण से 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें ज़्यादातर मरने वाले लोग बुजुर्ग थे।

अस्पताल में भर्ती होने के बाद थॉमस को दिल का दौरा पड़ा था और मरियम्मा को एक बैक्टीरियल इन्फ़ैकशन हुआ था। इसके अलावा जो नर्स इंका इलाज़ कर रहीं थी उन्हें टेस्ट में कोरोना पॉज़िटिव पाया गया है।

परिवार के पांच अन्य सदस्यों – दंपति के बेटे, बहू, पोते और दो अन्य रिश्तेदारों को COVID-19 से संक्रमित नहीं होने की पुष्टि के बाद सोमवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। जब पांचों को पठानमथिट्टा के जनरल अस्पताल से डिस्चार्ग किया गया तो डॉक्टरों सहित कर्मचारियों ने उन्हें एक अश्रुपूर्ण विदाई दी।

Coronavirus in India LIVE Updates: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट 

बेटे का परिवार 29 फरवरी को इटली से पठानमथिट्टा के ऐथला में परिवार के पास आया था और माना जाता है कि दंपत्ति को वायरस का संक्रमण उन्हीं से हुआ था। 55 वर्षीय बेटे ने कहा, “हम अगस्त में छुट्टी पर आने की योजना बना रहे थे। लेकिन पिता ने कहा कि वह तब तक जीवित नहीं रह सकते।”

बेटे के तीन सदस्यीय परिवार को केरल के स्वास्थ्य विभाग और सार्वजनिक सेंसर की निंदा का सामना करना पड़ा क्योंकि उन्होंने अपने आगमन पर कोच्चि हवाई अड्डे पर स्क्रीनिंग नहीं कराई थी और अपने विदेशी यात्रा के बारे में अधिकारियों को सूचित नहीं किया था।

उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया और वे कई कार्यक्रमों में भाग लेते रहे और इस दौरान उन्होंने यात्रा भी की। वे डाकघर, बैंक और पुलिस स्टेशन भी गए थे। इस दौरान उनके परिवार से करीब 900 लोग कांटैक्ट में आए थे सभी को स्वास्थ्य विभाग ने क्‍वारंटाइन में रखा है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 CoronaVirus: निजामुद्दीन इलाके में 175 लोग कोरोना संदिग्ध, करीब 2000 को किया क्वारंटाइन
2 नोएडा के डीएम का तबादला, विभागीय जांच के आदेश; कोरोना को लेकर सीएम योगी ने लगाई थी फटकार
3 वायरस का खौफ: Coronavirus पीड़ित के दाह संस्कार पर नहीं जाने दिया गया परिवारवालों को! स्वास्थ्यकर्मियों ने दफनाई लाश उनके परिवार का कोई भी शख्स
यह पढ़ा क्या?
X