ताज़ा खबर
 

Corona Virus: भोपाल में एक पत्रकार सहित कोविड-19 के 6 नए मरीज, शहर में हुए कुल 91 और राज्य में 327 केस

मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ''जो छह मरीज बुधवार को संक्रमित पाये गये हैं, उनमें एक स्थानीय टीवी न्यूज चैनल का पत्रकार भी शामिल है।'' उन्होंने कहा कि संभवत: यह पत्रकार एक दिन पहले संक्रमित पाये गये एक पुलिस अधिकारी के संपर्क में आने से इस बीमारी के चपेट में आया है।

Author Updated: April 8, 2020 3:55 PM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

भोपाल में बुधवार दोपहर तक एक टीवी न्यूज चैनल के एक पत्रकार सहित कोरोना वायरस संक्रमण के छह नए मामले सामने आने के बाद शहर में अब तक इस महामारी की चपेट में आये मरीजों की तादाद बढ़कर 91 हो गयी है। भोपाल के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉक्टर सुधीर डेहरिया ने बताया, ””भोपाल में कोरोना वायरस के छह और लोग संक्रमित पाये गये हैं।” उन्होंने कहा कि इसी के साथ भोपाल में अब तक 91 लोग इस बीमारी से संक्रमित पाये गये हैं। इनमें 45 स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी एवं 12 पुलिसकर्मी शामिल हैं।

डेहरिया ने बताया कि इनमें से एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है, जबकि दो मरीज अब तक ठीक हो चुके हैं, जिन्हें एम्स भोपाल से डिस्चार्ज किया जा चुका है। इसी बीच, मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ”जो छह मरीज बुधवार को संक्रमित पाये गये हैं, उनमें एक स्थानीय टीवी न्यूज चैनल का पत्रकार भी शामिल है।” उन्होंने कहा कि संभवत: यह पत्रकार एक दिन पहले संक्रमित पाये गये एक पुलिस अधिकारी के संपर्क में आने से इस बीमारी के चपेट में आया है। सीएमएचओ डेहरिया ने बताया, ”भोपाल में कोविड—19 से अब तक 85 लोग संक्रमित पाये गये हैं। इनमें 40 स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और 12 पुलिसकर्मी शामिल हैं।”

भोपाल पुलिस के उप महानिरीक्षक इरशाद वली ने बताया, ”कोरोना वायरस की चपेट में एक नगर पुलिस अधीक्षक (सीएसपी), एक उप निरीक्षक और शेष आरक्षक हैं।’’ इस बीच, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंत्रालय में प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा करते हुए कल देर रात निर्देश दिए हैं कि भोपाल और इंदौर शहरों में कोरोना वायरस के अधिक प्रकरण मिले हैं। इसलिये इनकी सीमाओं को और कड़ाई से सील किया जाए तथा आवागमन पर पूर्ण प्रतिबंध हो। उन्होंने कहा कि संक्रमण रोकने के लिए सर्वे कार्य तथा कोरोना वायरस जांच का कार्य गहनता से किया जाए।

चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण को पूरी तरह से रोकना है तथा मरीजों को ठीक करना है। इसके लिए भीलवाड़ा एवं कर्नाटक मॉडल तथा जहाँ भी अच्छे कार्य हुए हैं, उनकी जानकारी प्राप्त कर उन्हें प्रदेश में लागू किया जाए। अधिकारी अपना पूरा टैलेंट इस कार्य में झोंक दें। मुख्यमंत्री ने जनता से आग्रह किया कि प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए इसके संक्रमण की जानकारी छुपाएं नहीं बल्कि बताएं। कोरोना संक्रमित व्यक्ति यह बताएं कि वे गत दिनों किस-किस व्यक्ति से मिले थे। आपके घर, परिवार एवं आस-पास यदि कोई व्यक्ति विदेश से आया हो, तो उसकी जानकारी दें। यह भी जानकारी दें कि क्या कोई व्यक्ति इंदौर अथवा भोपाल से आया है।

मध्य प्रदेश में अब तक पाए गए 327 कोरोना मरीजों में से प्रदेश की आर्थिक राजधानी माने जाने वाले शहर इन्दौर में अब तक सर्वाधिक 173 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं।
स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि प्रदेश में अब तक 23 लोगों की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण से हो चुकी है, जिनमें से इंदौर में 15, उज्जैन में पांच एवं भोपाल, खरगोन एवं छिंदवाड़ा में एक—एक शामिल हैं।

दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात के एक कार्यक्रम में शामिल लोगों को चेतावनी देते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यदि इसमें शामिल लोगों ने अगले 24 घंटे के अन्दर स्वयं प्रशासन को अपनी जानकारी नहीं दी तो प्रदेश सरकार उनके खिलाफ आपराधिक प्रकरण दर्ज कर उचित कानूनी कार्रवाई करेगी। कार्यक्रम में शामिल सैकड़ों सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और कई लोगों की जान भी गई है। चौहान ने ट्वीट किया, ” मध्य प्रदेश से निजामुद्दीन मरकज में गये सभी नागरिकों और विदेश से आ कर मस्जिदों में छुपे लोगों की पहचान कर सबको प्रशासन ने पृथक कर दिया है।”

उन्होंने कहा, ”इसके बाद भी अगर कोई कहीं छुपा हुआ है, तो मेरा उनसे आग्रह है कि अगले 24 घंटे के अन्दर वे स्वयं प्रशासन को इसकी जानकारी दें।” चौहान ने आगे लिखा, ”ऐसा न करने पर देश और प्रदेश की सुरक्षा संकट में डालने के आरोप में उन पर प्रशासन द्वारा आपराधिक प्रकरण दर्ज कर उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी।” स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कहा, ”मंगलवार रात तक मध्य प्रदेश में कुल 313 लोग कोरोना वायरस संक्रमित पाये गये। प्रदेश में सबसे अधिक 173 मरीज इन्दौर में हैं, इसके बाद 85 मरीज भोपाल में, 13 उज्जैन में, 12 मुरैना में, आठ जबलपुर में, छह ग्वालियर में, चार खरगोन में, तीन बड़वानी में, दो-दो मरीज छिंदवाड़ा एवं शिवपुरी में और एक-एक मरीज बैतूल, श्योपुर, होशंगाबाद एवं विदिशा में मिले हैं। वहीं, एक व्यक्ति ओडिशा के भुवनेश्वर का है, जिसका यहां इलाज चल रहा है।”

उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 23 लोगों की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण से हो चुकी है, जिनमें से इंदौर में 15, उज्जैन में पांच एवं भोपाल, खरगोन एवं छिंदवाड़ा में एक-एक व्यक्ति की जान गई है। उन्होंने बताया कि 21 लोग स्वास्थ हो चुके हें। वहीं, 228 मरीजों की हालत स्थिर बनी हुई है, जबकि 20 की स्थिति गंभीर है। पिछले एक सप्ताह में प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख सचिव सहित दो आईएएस अधिकारी कोविड-19 के संक्रमण की चपेट में आए हैं। भोपाल के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर सुधीर डेहरिया ने कहा, ”भोपाल में कोविड-19 से अब तक 85 लोग संक्रमित पाये गये हैं। इनमें 40 स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और 12 पुलिसकर्मी शामिल हैं।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Coronavirus: मध्य प्रदेश की मुख्य सचिव के जज्बे को सलाम, कोरोना संक्रमित होने के बाद भी काम में जुटीं
2 मध्य प्रदेश में कोरोना के खिलाफ कांग्रेस-भाजपा एक साथ! सामुदायिक रसोई में बनवा रहे हैं जरुरतमंदों के लिए भोजन